comScore

कौन बनेगा टीम इंडिया का हेड कोच? छह उम्मीदवारों को किया गया शॉर्ट लिस्ट

कौन बनेगा टीम इंडिया का हेड कोच? छह उम्मीदवारों को किया गया शॉर्ट लिस्ट

हाईलाइट

  • टीम इंडिया के मुख्य कोच पद के लिए छह उम्मीदवारों को शॉर्ट लिस्ट किया गया है
  • इस सप्ताह के अंत में या अगले सप्ताह की शुरुआत में इस पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा
  • कपिल देव की अध्यक्षता वाली समिति कोच का चयन करेगी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के पद के लिए सोमवार को रवि शास्त्री सहित छह उम्मीदवारों को शॉर्ट लिस्ट किया गया है। कपिल देव की अध्यक्षता वाली क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) के सामने ये उम्मीदवार अपना प्रेजेंटेशन देंगे। इस सप्ताह के अंत में या अगले सप्ताह की शुरुआत में इस पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

छह उम्मीदवारों में न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन, ऑस्ट्रेलियन टीम के पूर्व ऑलराउंडर और श्रीलंका के कोच टॉम मूडी, वेस्टइंडीज के पूर्व ऑलराउंडर और अफगानिस्तान के कोच फिल सिमंस, भारत के पूर्व टीम मैनेजर लालचंद राजपूत, पूर्व फील्डिंग कोच रॉबिन सिंह और शास्त्री हैं।

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ये सभी उम्मीदवार हेड कोच के लिए CAC के सामने प्रेजेंटेशन देंगे। CAC में देश के पहले विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव के अलावा, नव-नियुक्त अंशुमान गायकवाड़ और महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान शांता रंगास्वामी शामिल हैं।

वेस्टइंडीज दौरे के लिए रवाना होने से पहले, कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि वह शास्त्री के पक्ष में हैं जो कि वर्तमान में भारतीय टीम के हेड कोच है। बता दें कि विश्व कप के सेमीफाइनल में मिली न्यूजीलैंड से हार के बाद शास्त्री को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा था। शास्त्री, बॉलिंग कोच भरत अरुण, बैटिंग कोच संजय बांगर और फील्डिंग कोच आर श्रीधर सहित मौजूदा सपोर्ट स्टाफ को वर्ल्ड कप के बाद 45 दिन का एक्सटेंशन दिया गया है।

हेसन हाल ही में आईपीएल फ्रेंचाइजी किंग्स इलेवन पंजाब के साथ जुड़े हैं। हेसन ने छह वर्षों के लिए ब्लैक कैप्स (न्यूजीलैंड) को कोचिंग दी। हेसन के कोच रहते न्यूजीलैंड की टीम 2015 क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में पहुंची थी। इसके अलावा 2016 में भारत में हुए टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल और अप्रैल 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई टेस्ट श्रृंखला में जीत हासिल की थी। इस जीत ने न्यूजीलैंड को वर्ल्ड रैंकिंग में तीसरे स्थान पर पहुंचा दिया था।

सीमन्स ने आयरलैंड और अफगानिस्तान जैसी क्रिकेट टीमों को कोचिंग दी है। सीमन्स ने वेस्ट इंडीज टीम को भी कुछ दिनों तक अपनी सेवाएं दी थी। उनकी कोचिंग में वेस्टइंडीज की टीम ने 2016 में भारत में हुए टी-20 वर्ल्ड कप की ट्रॉफी को अपने नाम किया था। इसके बाद 2017 में वह अफगानिस्तान क्रिकेट टीम से जुड़ गए थे।

भारतीयों की बात की जाए तो, रॉबिन सिंह भारतीय टीम के क्षेत्ररक्षण कोच रह चुके हैं। 2007 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में जब भारत ने टी-20 वर्ल्ड कप की ट्रॉफी अपने नाम की थी उस वक्त रॉबिन सिंह ही भारतीय टीम के क्षेत्ररक्षण कोच थे। जबकि लालचंद राजपूत इस दौरान टीम के हेड कोच थे। राजपूत अफगानिस्तान और जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

भारत 2016 में टी 20 विश्व कप और 2015 और 2019 में एकदिवसीय विश्व कप जीतने में विफल रहा, लेकिन शास्त्री-कोहली की जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक श्रृंखला जीत के साथ देश को टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने में मदद की। शास्त्री जून 2016 तक टीम डायरेक्टर थे। अनिल कुंबले के जाने के बाद 2017 में उन्हें भारत के मुख्य कोच के रूप में नियुक्त किया गया था।

कमेंट करें
Q2MvB