comScore
Dainik Bhaskar Hindi

दुर्लभ पैंगोलिन की तस्करी करने वाले 6 तस्कर गिरफ्तार

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 11th, 2019 17:10 IST

4.3k
0
0
दुर्लभ पैंगोलिन की तस्करी करने वाले 6 तस्कर गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क,कटनी। वन विभाग ने बरही तहसील के हथेड़ा गांव में छापा मार कर पैंगोलिन (कबरबिज्जू) की तस्करी का खुलासा किया है। इस मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से एक दुर्लभ पैंगोलिन बरामद किया है। आरोपियों के कब्जे से एक मोटरसाइकिल और चार मोबाइल भी जब्त किए हैं। पकड़े पेंगुलिन की कीमत 40 लाख रुपए बतायी जा रही है।
खेत में पकड़ा पेंगुलिन-
आरोपी इस वन्य प्राणी को किसी तस्कर को सौंपने की तैयारी में थे। मार्केट में पैंगोलिन की कीमत चालीस लाख रुपये बताई जाती है। पकड़े गए आरोपियों में विश्राम कुशवाहा, छोटा काछी, लल्लाराम यादव, सियाराम काछी, हनुमत काछी एवं खज्जी सिंह गोंड़ हैं। जबकि एक तस्कर भागने में सफल रहा।  जानकारी के अनुसार वन विभाग को मुखबिर से सूचना मिली कि विजयराघगढ़ रेंज के हथेड़ी गांव में पैंगोलिन के पकड़े जाने और उसके बाहर सप्लाई की सूचना मिली। इस सूचना पर वन विभाग ने छापा मारकर खेत से पैंगोलिन पकड़ा। इस कार्रवाई एसडीओ फारेस्ट ओपी सिंह बघेल, बरही रेंजर सतेन्द्र तिवारी, विजयराघवगढ़ के प्रभारी रेंजर व्हीएस चौहान भी शामिल थे।
पेड़ की खोह में छिपाया-
रेंजर ने बताया कि छापे की भनक लगते ही आरोपी ने ड्रम से वन्यप्राणी को निकालकर खेत से कुछ दूरी पर एक पेड़ की खोह में छिपा दिया। आरोपियों की निशानदेही पर काफी मशक्कत के बाद पैंगोलिन को पेड़ की खोह से निकाला गया। रेंजर के अनुसार यह वन्य प्राणी कब्रिस्तान एवं श्मशान के समीप पाया जाता है। आरोपियों ने पूछताछ में स्वीकार किया है कि तस्कर ने 40 लाख रुपये में खरीदने की सहमति जताई थी।
पांच दिन पहले पकड़ा था-
बरही रेंजर सतेन्द्र तिवारी ने बताया किया विश्राम कुशवाहा ने हथेड़ा में एक तिवारी को खेत ठेके  पर लिया है। पांच दिन पहले दूसरे खेत में पैंगोलिन दिखा तो उसे पकड़ कर प्लास्टिक के ड्रम में बंद कर दिया और ऊपर से धान की पुआल ढंक दिया। विश्राम ने अन्य पांच लोगों से पैंगोलिन को बेचने की बात कही और रविवार को यह वन्य प्राणी तस्कर को सौंपना तय हुआ।
मोबाइल से होगा तस्करों का खुलासा-
रेंजर के अनुसार आरोपियों के कब्जे से जब्त मोबाइल की सीडीआर निकलवाई जाएगी। एक सौदागर फरार है जिसने आरोपियों की तस्कर से बात कराई थी। तस्करी के तार काफी गहरे हो सकते हैं और इसका खुलासा मोबाइल की सीडीआर से होगा। वन विभाग के अनुसार पेंगुलिन का उपयोग शक्तिवर्धक दवाओं के निर्माण में होता है, इसीलिए इसकी अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में काफी मांग है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download