comScore
Dainik Bhaskar Hindi

कुंवारे होने पर भी देना होता था बैचलर टैक्स

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 31st, 2018 10:30 IST

6k
0
0
कुंवारे होने पर भी देना होता था बैचलर टैक्स

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। सरकार अपनी आय और आमजनों को दी जाने वाली सुविधाओं के लिए नागरिकों पर कई तरह के टैक्स लगाती है। यह तो सब जानते हैं, लेकिन कुंवारा होने पर ही टैक्स लगा दिया जाए तो... शायद ही आपने ऐसे किसी टैक्स के बारे में सुना हो लेकिन यह सच है। दुनिया में ऐसे कई देश हैं जहां कुंवारा होने पर बैचलर टैक्स लगाया जाता था। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे ही देशों के अजीबो गरीब टैक्स के बारे में... 
अमेरिका का मिसूरी राज्य, जहां सरकार ने लोगों पर कुंवारे होने की वजह से बैचलर टैक्स लगाया था। जिसके चलते वहां के कुंवारे लोगों को टैक्स के रुप में 1 डॉलर देना पड़ता था। बता दें कि उस समय इस टैक्स को लगाने के पीछे का एक कारण था जिससे लोगों को शादी के लिए प्रेरित किया जा सके।

कहा जाता है रोम में 9वीं सदी में बने सम्राट ऑगस्ट्स

ने भी लोगों पर बैटलर टैक्स लगाया था। यह टैक्स कुंवारो के साथ उन शादीशुदा लोगों से वसूला जाता था, जिन्होंने शादी के बाद भी बच्चे पैदा नहीं किए। हालांकि इस टैक्स को लगाने के बाद सरकार को काफी फायदा भी हुआ था।

मुसोलिनी ने भी इटली में 1927 में बैचलर टैक्स लगाया था। इससे पैसा भी इकट्ठा किया गया और साथ ही लोगों को शादी करने के लिए प्रेरित भी किया गया।

इंग्लैंड ने भी वसूला ये टैक्स

1695 के वक्त जब इंग्लैंड और फ्रांस के बीच युद्ध चल रहा था, तब ये टैक्स लगाया गया। सरकारी खजाने को बढ़ाने में ये टैक्स काफी फायदेमंद साबित हुआ। वहीं 1934 में कैलिफॉर्निया में भी ये टैक्स लगाने का प्रस्ताव रखा गया। 25 डॉलर के बैचलर टैक्स लगाने के पीछे सरकार की मंशा घटती जनसंख्या को कण्ट्रोल करना था लेकिन ये टैक्स उस समय लागू नहीं हो पाया था।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download