comScore

बदलेगी इंडस्ट्री की डिमांड, डिग्री नहीं सॉफ्ट स्किल तय करेगी सफलता : एन रघुरामन

July 27th, 2017 15:38 IST
बदलेगी इंडस्ट्री की डिमांड, डिग्री नहीं सॉफ्ट स्किल तय करेगी सफलता : एन रघुरामन

दैनिक भास्कर न्यूज, नागपुर। मैनेजमेंट गुरु और दैनिक भास्कर के कॉलम्निस्ट एन.रघुरामन ने शुक्रवार शाम शहर के सिविल लाइंस स्थित देशपांडे हॉल में कार्यक्रम में कहा कि जमाना जिस तेजी से बदल कर आधुनिक हो रहा है, उसी तेजी से इंडस्ट्रीज खुद को बदलेंगी। रोजगार के अवसर कम इसलिए हैं, क्योंकि एक पद के लिए ढेरों दावेदार हैं। ऐसे में अगर आप नौकरी पाना चाहते हैं, तो स्वयं को बदलें और कंपनियों को दिखाएं कि आप दूसरों से ज्यादा स्मार्ट और बेहतर सॉल्यूशन देने वाले एम्प्लॉई हैं।

कार्यक्रम में दैनिक भास्कर के संचालक सुमित अग्रवाल और एन रघुरामन ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में वुमन भास्कर क्लब की संचालिका नेहा अग्रवाल भी उपस्थित थीं। मंच संचालन मानसी ठक्कर और आभार प्रदर्शन संपादक मणिकांत सोनी ने किया। समाचार संपादक संजय देशमुख ने एन।रघुरामन का स्वागत किया। उपमहाप्रबंधक मारकॉम यशवंत सिंह चंदेल और वुमन भास्कर क्लब की इवेंट मैंनेजर अनु सबरवाल भी उपस्थित थीं।

इंडस्ट्री की पसंद कैसे बनें
खुद पर भरोसा रखें। यह समझें कि कुछ भी असंभव नहीं है। जिस लक्ष्य को आप हासिल करना चाहते हैं उसके मुताबिक अपनी स्किल्स को डेवलप करें। निरंतर नई चीजें सीखते रहें। अपने अंदर की आग को कायम रखें।


बदलेगा नौकरी देने का तरीका
रघुरामन के मुताबिक कॉर्पोरेट सेक्टर में सी-बिट नामक एक कंसल्टेंसी है, जो भविष्य में इंडस्ट्री की जरूरत के मुताबिक एम्पलाइ तलाशने के मापदंड तैयार कर रही है। उन्होंने बताया कि आगामी कुछ वर्षों में मेडिसिन, एनर्जी, एजुकेशन और इंजीनियरिंग जैसे क्षेत्र तेजी से प्रगति करेंगे। इन सेक्टरों को स्मार्ट और एडवांस कर्मचारियों की जरूरत होगी। करोड़ों उम्मीदवारों के बीच अपने काम का कर्मचारी चुनना कंपनियों के लिए भी आसान नहीं होगा। ऐसे में सिर्फ अच्छे ग्रेड या बड़े कॉलेज की डिग्री नहीं बल्कि उम्मीदवार की सॉफ्ट स्किल के आधार पर उसका चयन होगा।

हमेशा इन प्वाइंट को रखें
-आपकी अच्छाई
-दूसरों के लिए कुछ कर दिखाने का जज्बा
-इंसानियत की भावना, और घमंड का नामों निशान ना होना

चयन के दौरान आपका मूल्य बढ़ाएगी

- बगैर किसी पहले से स्थापित धारणा के आप नई चीजों को कितना सीखना चाहते हैं।

- आप जानकारी को ज्ञान में बदलने के लिए कितने तैयार हैं, यह आपकी क्रिएटीविटी में इजाफा करेगा।

- आपके काम करने की शैली में आपकी सादगी, आपके व्यक्तित्व की जटिलताओं को दूर करेगी।

- विपरित परिस्थिति में गुस्सा करने की जगह, ठंडे दिमाग से सोचना और कार्य करने की क्षमता होनी चाहिए।

- शरीर की ही तरह मन भी समय समय पर मैला होता है। मन का मैल समय समय पर दूर करें और कड़वाहट निकालने की कोशिश करें।

कमेंट करें
sFwpV