comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पहली बार खेला जा रहा था 4 दिन का टेस्ट मैच, दो ही दिन में हुआ खत्म

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 28th, 2017 20:16 IST

1.1k
0
0

डिजिटल डेस्क, जोहान्सबर्ग। ट्रायल के तौर पर पहली बार साउथ अफ्रीका और जिंबाब्वे के बीच खेला जा रहा 4 दिनों का टेस्ट मैच सिर्फ दो ही दिनों में खत्म हो गया। साउथ अफ्रीका की टीम ने जिंबाब्वे को इस मैच में एक इनिंग और 120 रनों से हरा दिया। जिंबाब्वे की टीम पहली इनिंग में सिर्फ 68 रन पर ही सिमट गई, जबकि दूसरी इनिंग में सिर्फ 121 रन ही बना सकी। इस तरह से साउथ अफ्रीकी टीम ने पहला 4 दिनों का टेस्ट सिर्फ दो ही दिनों में जीत लिया। इसके साथ ही 12 सालों में ये पहली बार हुआ है, जब कोई टेस्ट मैच सिर्फ 2 ही दिनों में खत्म हो गया हो। 

मैच का रोमांच 

साउथ अफ्रीका टीम ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए अपनी पहली इनिंग पहले दिन 9 विकेट के नुकसान पर 309 रनों पर डिक्लेयर कर दी थी। इसके बाद साउथ अफ्रीकी बॉलर्स ने जिम्बाब्वे को पहली पारी में 68 और दूसरी पारी में 121 रनों पर ढेर करते हुए इनिंग से जीत हासिल की। साउथ अफ्रीका के लिए पहली इनिंग में फास्ट बॉलर मोर्ने मोर्कल ने 5 विकेट लिए, जबकि दूसरी इनिंग में स्पिनर केशव महाराज ने 5 विकेट चटकाए।

ये बने खास रिकॉर्ड

साउथ अफ्रीका और जिंबाब्वे के बीच हुआ ये टेस्ट सिर्फ 2 ही दिन में खत्म हो गया। ये 20वां टेस्ट मैच था, जो सिर्फ 2 दिन में खत्म हो गया। आखिरी बार 2005 में ऐसा हुआ था। उस वक्त न्यूजीलैंड ने जिंबाब्वे को हरारे में एक इनिंग और 294 रनों से हरा दिया था। इसके अलावा ये पोर्ट एलिजाबेथ में सिर्फ 2 दिन में ही खत्म होने वाला तीसरा टेस्ट मैच है। इससे पहले यहां 1889 और 1896 में इंग्लैंड ने साउथ अफ्रीका को 2 दिनों के अंदर ही हरा दिया था।

ये रिकॉर्ड भी बने

1. साउथ अफ्रीका ने टेस्ट क्रिकेट की हिस्ट्री में किसी भी टीम को टेस्ट मैच में दो बार सबसे जल्दी ऑलआउट करने का अपना रिकॉर्ड बनाया है। साउथ अफ्रीकी टीम ने सिर्फ 72.4 ओवर्स में ही जिंबाब्वे को ऑलआउट कर दिया। 

2. एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले साउथ अफ्रीकी स्पिनर बने केशव महाराज। केशव ने इस साल कुल 48 विकेट लिए। इससे पहले 1957 में साउथ अफ्रीकी स्पिनर ह्यू टेफील्डस ने 43 विकेट लिए थे। 

3. इसके अलावा इस डे-नाइट टेस्ट में बस एक ही रात फ्लडलाइट्स में खेला गया। क्योंकि दूसरे दिन के दूसरे सेशन में ही ये टेस्ट मैच खत्म हो गया। 

4. इस मैच का रिजल्ट सिर्फ 907 बॉलों में ही आ गया। इसी के साथ ये टेस्ट हिस्ट्री का 9वां सबसे जल्दी खत्म होने वाला टेस्ट मैच है।

इन नियमों में हुआ था बदलाव

साउथ अफ्रीका और जिंबाब्वे के बीच होने वाले इस 4 दिन के टेस्ट मैच के लिए 3 नियमों में बदलाव किए गए थे। इनमें जो पहला नियम था वो ये था कि 'इस टेस्ट मैच में हर रोज 98 ओवर का खेल खेला जाएगा, जबकि 5 दिन के टेस्ट में 90 ओवर का खेल होता है।' दूसरा नियम ये था कि 'इस टेस्ट मैच में रोज आधे घंटे का ज्यादा होगा, यानी कि 6 घंटे की बजाय साढ़े 6 घंटे का खेल होगा।' इसके अलावा जो तीसरा और आखिरी नियम था, वो ये था कि 'पहले दो सेशन सवा 2 घंटे और तीसरा सेशन 2 घंटे का होगा। अभी तीनों सेशन 2 घंटे के होते हैं।'

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें