comScore

श्रीलंका क्रिकेट की हालत देखकर दुख होता है - पूर्व क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन

February 09th, 2019 23:54 IST
श्रीलंका क्रिकेट की हालत देखकर दुख होता है - पूर्व क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन

हाईलाइट

  • श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन ने देश में क्रिकेट की स्थिति पर दुख जताया।
  • मुथैया मुरलीधरन 2011 में ले चुके हैं संन्यास।
  • कहा- युवाओं का कम होता जुनून और खेल से भटकाव है खेल के गिरते स्तर का कारण।

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। विश्व के महान स्पिनर और श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन ने देश में क्रिकेट की स्थिति पर दुख जताया है। मुरली ने कहा कि श्रीलंका में क्रिकेट का स्तर लगातार गिर रहा है। उन्होंने इसके पीछे का कारण युवा खिलाड़ियों में जुनून और खेल से भटकाव बताया है। गौरतलब है कि श्रीलंकाई क्रिकेट अपने अब तक के सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है। जनवरी में हुए न्यूजीलैंड दौरे में श्रीलंका को दोनों फॉर्मेट में शिकस्त झेलनी पड़ी थी। इसके बाद बीते माह आस्ट्रेलिया से हुए दो टेस्ट मैचों में भी श्रीलंका ने करारी हार का सामना करना पड़ा था।

2011 में क्रिकेट से संन्यास ले चुके मुथैया मुरलीधरन काफी समय से क्रिकेट से दूर हैं। हाल ही में मीडिया को दिए एक साक्षात्कार में मुरली ने बताया कि वे रिटायरमेंट के बाद से ही श्रीलंकाई क्रिकेट से दूर हैं। मुरली ने कहा कि आज के युवाओं में खेल के प्रति जुनून की कमी हुई है, आज खिलाड़ी खेलने में कम और पैसा कमाने में ज्यादा जुटे रहते हैं। जब हम खेला करते थे तो हमारा मकसद केवल विकेट चटकाना और रन बनाना होता था, उस समय खेल में पैसा भी कम था। पूर्व स्पिनर ने कहा कि बीते दो सालों में खेल का स्तर तेजी से गिरा है। मुथैया के अनुसार जो टीम तीन बार वर्ल्ड कप फाईनल खेल चुकी है, उसकी ये हालत चिंता करने वाली है।

गौरतलब है कि मुथैया मुरलीधरन दुनिया के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। मुरली ने अपने टेस्ट करियर में 133 मैचों में 800 विकेट लिए हैं। एक दिवसीय क्रिकेट में मुरली ने 350 मैचों में 534 विकेट लिए हैं। क्रिकेट के नए T20 फार्मेट में मुथैया ने 164 मैचों में 179 विकेट लिए हैं।

कमेंट करें
Survey
आज के मैच
IPL | Match 40 | 22 April 2019 | 08:00 PM
RR
v
DC
Sawai Mansingh Stadium, Jaipur