comScore
Dainik Bhaskar Hindi

भारतीय स्टेट बैंक के ग्राहक हैं तो जरूर पढ़ें ये खबर, हो सकता है नुकसान

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 04th, 2018 18:08 IST

5.2k
0
0

News Highlights

  • भारतीय स्टेट बैंक बंद करने जा रहा हैं अपनी सर्विस
  • एसबीआई की तरफ से होने वाले बदलाव का असर ऐसे कस्टमर्स पर पड़ेगा, जो लेन-देने के लिए चेक का प्रयोग करते हैं।
  • 1 जनवरी 2019 से नॉन-CTS चेक को क्लीयर नहीं करेंगे. इस बारे में SBI की तरफ से 12 दिसंबर की डेडलाइन तय की गई है.


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत की सबसे बड़ी बैंकों में एक भारतीय स्टेट बैंक अपनी चार सर्विस को बंद करने के बाद फिर बड़ा बदलाव करने वाला है। 12 दिसंबर से ये बदलाव किया जाएगा। स्टेट बैंक की ओर से किए जा रहे इस बदलाव को असर उन करोड़ों ग्राहकों पर होगा जो चेक के माध्यम से अपना लेन-देन करते है। स्टेट बैंक के साथ एचडीएफसी बैंक,आईसीआईसीआई बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा और पंजाब नेशनल बैंक भी इसमें शामिल है। 

भारतीय रिजर्व बैंक के निर्देशों के अनुसार ये सभी बैंक अगले साल यानी 1 जनवरी 2019 से नॉन-CTS चेक को क्लीयर नहीं करेंगे। जिसका सीधा प्रभाव उन ग्राहकों पर होगा जो लेन-देन के लिए चेक का इस्तेमाल ज्यादा करते है। इस बारे में SBI की तरफ से 12 दिसंबर की डेडलाइन तय की गई है। यानी देश के सबसे बड़े बैंक की तरफ से 12 दिसंबर से ही नॉन-CTS चेक स्वीकार नहीं किया जाएगा। 12 दिसंबर के बाद केवल CTS चेक ही क्लीयर होंगे। 

बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक ने इस संबंध में तीन महीने पहले निर्देश जारी कर दिए थे। इसे लेकर SBI की तरफ से अपने करोड़ों ग्राहकों को मैसेज भी भेजे जा रहे हैं। बैंक की तरफ से भेजे जा रहे मैसेज में बैंक के ग्राहकों से चेक बुक जमा करने और नई चेक बुक जारी करने के लिए बैंक से संपर्क बनाए रखने की अपील की गई है। CTS यानी चेक ट्रांजेक्शन सिस्टम, इस सिस्टम के तहत चेक की इलेक्ट्रॉनिक इमेज कैप्चर हो जाती है और फिजिकल चेक को क्लीयरेंस के लिए एक बैंक से दूसरे बैंक में भेजने की आवश्यकता नहीं होती। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें