comScore

मेडिकल में प्रवेश का समय बढ़ाए जाने के बावजूद विद्यार्थियों का आंदोलन जारी 

मेडिकल में प्रवेश का समय बढ़ाए जाने के बावजूद विद्यार्थियों का आंदोलन जारी 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश सरकार की तरफ से मेडिकल और डेंटल के स्नातकोत्तर (पीजी) पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए 25 मई तक समयावधि बढ़ाए जाने के बावजूद विद्यार्थियों का अब भी आंदोलन जारी है। मंगलवार को स्टेट कॉमन एंट्रेंस टेस्ट सेल (सीईटी) की ओर से प्रवेश प्रक्रिया के लिए समय बढ़ाने के संबंध में आदेश जारी किया गया। इस शैक्षणिक वर्ष में मेडिकल और डेंटल के पीजी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए 16 प्रतिशत मराठा आरक्षण रद्द होने के कारण मेडिकल के विद्यार्थी लगातार आठ दिनों से आजाद मैदान में आंदोलन कर रहे हैं।

आंदोलनकारी विद्यार्थियों ने कहा कि सरकार ने प्रवेश प्रक्रिया के लिए समय बढ़ाने का फैसला किया है लेकिन सीईटी के आदेश में प्रवेश को लेकर कोई स्पष्ट दिशा निर्देश नहीं दिए गए हैं। हम कॉलेज की अपनी पुरानी सीट को बरकरार रखना चाहते हैं। इस बारे में सरकार को ठोस फैसला करना चाहिए। जब तक कोई निर्णय नहीं होता है तब तक हम लोग आजाद मैदान नही छोड़ेंगे।

बाम्बे हाईकोर्ट की नागपुर खंडपीठ ने इस शैक्षणिक वर्ष में 16 प्रतिशत मराठा आरक्षण को रद्द करने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने भी नागपुर खंडपीठ के आदेश को बरकरार रखा है। सूत्रों के अनुसार सरकार सुप्रीम कोर्ट में पुनःविचार याचिका दाखिल कर सकती है। साथ ही सरकार अध्यादेश लाने की तैयारी में है पर सरकार को आचार संहिता लागू होने के कारण मुश्किल हो रही है। 

 

कमेंट करें
87YAz