comScore

अवैध संबंध के शक पर पति ने दी थी हत्या करने की सुपारी, पुलिस ने किया हत्या का खुलासा

अवैध संबंध के शक पर पति ने दी थी हत्या करने की सुपारी, पुलिस ने किया हत्या का खुलासा

डिजिटल डेस्क सतना। जिले के नागौद थाना क्षेत्र के हरदुआ गांव में रोड किनारे 23 जून को मिली 38 वर्षीय अज्ञात युवक के शव की पहचान कर ली गई है। मृतक की शिनाख्त संजय जोशी पिता दिनेश चंद्र जोशी निवासी लक्ष्मी बाई गेट के अंदर निवासी झांसी उत्तरप्रदेश के रुप में की गई है। पत्नी से अवैध संबंध के शक पर झांसी के ही आरोपी ओमप्रकाश साहू ने संजय जोशी की हत्या के लिए आरोपी गुरिंदर उर्फ काके को 2 लाख की सुपारी दी थी। मेडिकल कालेज रीवा के एचओडी डॉ.हर्षवर्धन की मौजूदगी में पीएम कराया गया और फिर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

20 जून को हुआ था अपहरण 
सुपारी किलर गुरिंदर उर्फ काके ने 5 अन्य आरोपियों के साथ 20 जून को झांसी में संजय जोशी का अपहरण कर लिया था। हत्या के बाद आरोपी फोर व्हीलर से शव लेकर नागौद थाना क्षेत्र के हरदुआ गांव पहुंचे थे। सिर कुचलने के बाद शव को सड़क किनारे बेशरम की झाड़ी में फेंक गए थे।  23 जून को अज्ञात युवक का शव मिलने की खबर पर नागौद पुलिस ने अपराध कायम करते हुए शिनाख्तगी की कोशिश की थी लेकिन कामयाबी नहीं मिलने पर शव को दफना दिया गया था।

ऐसे हुआ खुलासा
उधर, 20 जून से लापता संजय जोशी के परिजनों की शिकायत पर झांसी पुलिस सक्रिय हुई और हत्या के आरोप में गुरिंदर समेत 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में अपना अपराध स्वीकार करते हुए पुलिस को बताया कि कत्ल के लिए गुरिंदर ने ओमप्रकाश साहू से 2 लाख की सुपारी उठाई थी।

इन्हीं आरोपियों की ही निशानदेही पर शव की बरामदगी के लिए झांसी पुलिस नागौद थाने पहुंची।  कार्यपालिक मजिस्ट्रेट नागेंद्र त्रिपाठी की मौजूदगी में दफनाए गए शव को बाहर निकाला गया।  मेडिकल कालेज रीवा के एचओडी डॉ.हर्षवर्धन की मौजूदगी में पीएम कराया गया और फिर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

कमेंट करें
tdjgm