comScore

ताहिरा ने ऐसे मनाया विश्व कैंसर दिवस, कहा TODAY IS MY DAY

February 04th, 2019 20:47 IST
ताहिरा ने ऐसे मनाया विश्व कैंसर दिवस, कहा TODAY IS MY DAY

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। एक्टर आयुष्मान खुराना की पत्नी ताहिरा कश्यप पिछले लंबे समय से स्तन कैंसर से जूंझ रही हैं। वह प्रिवेंटिव मैस्टेक्टमी (सर्जरी से स्तन निकलवाना) करवा रही हैं। इस इलाज में उन्हें काफी परेशानी और दर्द का सामना करना पड़ रहा है। पिछले दिनों उन्होंने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा था कि हैलो दुनिया... इस नए लुक में, मैं वही पुरानी। आज फिर विश्व कैंसर डे के मौके पर उन्होंने अपनी एक खूबसूरत तस्वीर शेयर की और लिखा कि 'TODAY IS MY DAY'!

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Today is my day! Wish you all a happy #worldcancerday and hope each one of us celebrates this day in an embracing way. That we remove any stigma or taboo associated with it. That we spread awareness about it and that we have self love no matter what. I truly embrace all my scars as they are my badges of honour. There is nothing known as perfect. Happiness lies in truly accepting yourself. This was a tough one for me. But this picture was my decision as I want to celebrate not the disease but the spirit with which I endured. To quote my mentor, Diasaku Ikeda, “Leading an undefeated life is eternal victory. Not being defeated, never giving up, is actually a greater victory than winning, not being defeated means having the courage to rise to the challenge. However many times we’re knocked down, the important thing is we keep getting up and taking one step-even a half step- forward” #worldcancerday #breastcancerawareness #breastcancerwarrior #turningkarmaintomission #boddhisatva Thanks @atulkasbekar for this one

A post shared by tahirakashyapkhurrana (@tahirakashyap) on

यह लिखते हुए ताहिरा ने सभी को विश्व कैंसर दिवस विश किया। उन्होंने कहा कि सभी को इस दिन को मनाना चाहिए और गले लगाकर एक दूसरे को विश करना चाहिए। इस​ तरह हम कैंसर से जुड़े सभी प्रकार के मिथक को हटा सकते है। हम इसके बारे में जागरूकता फैलाएं और बिना किसी वजह के, खुद से आत्म प्रेम हो जाएं। मैं सच में उन सभी लोगों को गले गलाना चाहती हूं जो इस बीमारी से जूंझ रहे हैं। वही मेरे सम्मान का बैज है। पहले से कुछ भी नहीं पता, जो है, उसे सच मानने में ही खुशी है। यह मेरे लिए एक सीख है। मैं यह तस्वीर इसलिए शेयर कर रही हूं क्योंकि इस बीमारी को, मैं बीमारी नहीं मानती। ​बल्कि मैं इसका जश्न मनाना चाहती हूं। 

अपने गुरू दीसाकु इरेका का उद्धरण करते हुए ताहिरा ने लिखा कि “एक अपरिभाषित जीवन का नेतृत्व करना अनंत जीत है। पराजित नहीं होना, कभी हार नहीं मानना, वास्तव में जीत से भी बड़ी जीत है, पराजित नहीं होने का मतलब है चुनौती के लिए साहस जुटाना। हालाँकि कई बार हमने दस्तक दी, महत्वपूर्ण बात यह है कि हम उठते रहें और एक कदम और भी आधा कदम आगे बढ़ाएँ।

​ताहिरा के इस मैसेज को सभी लोगों ने सराहा है, लोगो ने कहा कि उन्हें ताहिरा पर गर्व है कि वे कैंसर जैसी बीमारी से लड़ रही हैं। साथ ही कुछ लोगों ने उनका शुक्रिया अदा किया कि वे इसी ​बीमारी के प्रति समाज में जागरूकता फैला रही हैं। 

Loading...
कमेंट करें
7oaWg
Loading...
loading...