comScore
Dainik Bhaskar Hindi

नशीले पदार्थ  के साथ तंजानियाई नागरिक गिरफ्तार, 75 लाख लेकर फरार कर्मचारी भी धराया

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 14th, 2018 00:01 IST

1.2k
0
0
नशीले पदार्थ  के साथ तंजानियाई नागरिक गिरफ्तार, 75 लाख लेकर फरार कर्मचारी भी धराया

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) ने मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से नशे की खेप के साथ एक तंजानियाई नागरिक को पकड़ा है। तलाशी के दौरान आरोपी के पास से छह किलो एफिड्रिन नाम के नशीला पदार्थ बरामद किया गया। आगे की जांच के लिए आरोपी को नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारियों के हवाले कर दिया गया है। पकड़े गए आरोपी का नाम इब्राहिम अब्दुल्ला शाबानी है। शाबानी छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर रात दो बजे के करीब पहुंचा था। यहां से उसे चार बजे मस्कत जाने वाली फ्लाइट पकड़नी थी, लेकिन हवाई अड्डे में दाखिल होने के दौरान जांच के दौरान वहां तैनात CISF जवान रविंदर यादव को संदेह हुआ।

दरअसल एक्सरे मशीन में शाबानी के बैग में संदिग्ध चीज होने के संकेत मिले। इसके बाद बैग खोलकर तलाशी ली गई तो दो संदिग्ध पैकेट मिले। आगे की जांच में साफ हुआ कि बरामद पैकेट में भरा हुआ पदार्थ एफिड्रीन है। इसके बाद CISF ने नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को मामले की जानकारी दी और आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए बरामद नशीले पदार्थ के साथ आरोपी को नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के हवाले कर दिया। इस बात की छानबीन की जा रही है कि आरोपी ने बरामद नशीला पदार्थ कहां से हासिल किया है और क्या इससे पहले भी वह नशीले पदार्थों की तस्करी में लिप्त रहा है। 

मालिक के 75 लाख  रुपए लेकर भागने वाला कर्मचारी गिरफ्तार
मालिक के 75 लाख रुपए लेकर फरार एक कर्चमारी को एलटी मार्ग पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जुलाई महीने से फरार आरोपी को पुलिस ने राजस्थान से गिरफ्तार किया। पुलिस अभी तक आरोपी से चोरी की गई रकम नहीं बरामद कर पाई है। गिरफ्तार आरोपी का नाम अजीत खान पिंजारा (35) है। दरअसल दिल्ली के व्यवसायी किशनलाल प्रजापति कुरियर के व्यवसाय से जुड़े हैं। उनका मुख्य कार्यालय अहमदाबाद में हैं जबकि दिल्ली और भिवंडी में दो इसकी शाखाएं हैं। काम लगातार बढ़ रहा था इसलिए प्रजापति भिवंडी इलाके में एक और गाला लेना चाहते थे। गाला खरीदने के लिए उन्होंने भुलेश्वर स्थित ऑफिस में 75 लाख रुपए रखे थे।

प्रजापति ने पैसे लेने के लिए अपने भिवंडी ऑफिस में काम करने वाले पिंजारा को भेजा। नौ जुलाई को पिंजारा ने भुलेश्वर ऑफिस से पैसे लिए और फरार हो गया। पिंजारा से प्रजापति ने संपर्क की काफी कोशिश की लेकिन नाकाम रहे। वहीं मुंबई ऑफिस से उन्हें बताया गया कि पिंजारा पैसे लेकर जा चुका है। इसके बाद उन्होंने एलटी मार्ग पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई। मामले की छानबीन में जुटी पुलिस ने पिंजारा को जालोर जिले के बडीपोल इलाके से गिरफ्तार कर लिया। हालांकि कड़ी पूछताछ के बावजूद आरोपी फिलहाल इस बात का खुलासा नहीं कर रहा है कि चोरी की गई रकम उसने कहां रखी है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है।  
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर