comScore
Dainik Bhaskar Hindi

स्कूल में पढ़ाना छोड़ बच्चों के बीच सोते मिले शिक्षक, शराब पीकर आते हैं स्कूल

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 12th, 2018 15:28 IST

2.6k
0
0
स्कूल में पढ़ाना छोड़ बच्चों के बीच सोते मिले शिक्षक, शराब पीकर आते हैं स्कूल

डिजिटल डेस्क, छिन्दवाड़ा/चौरई। ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा का स्तर किस तरह नीचे जा रहा है इसकी एक बानगी उस समय मिली जब ग्रामीणों ने स्कूल में शिक्षक को बच्चों के बीच नींद में खर्राटे भरतें हुए कैमरे में कैद कर इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों को की। इस संबंध में बताया गया है कि विकासखंड के करलई प्राथमिक शाला में पदस्थ शिक्षक बच्चों को पढ़ाना छोड़ उनके ही कक्ष में सोते रहते हंै। इस मामले में ग्रामीणों ने स्कूल में शिक्षक के सोते हुए फोटो लेकर शिकायत की है। ग्रामीणों ने कहा कि पहले भी शिक्षक के शराब पीकर आने पर शिकायत हुई थी। खुद तत्कालीन एसडीएम ने उन्हें अपने वाहन में लाकर मुलाहजा करवाया था। ग्रामीणों ने बताया कि करलई के प्राथमिक शाला में पदस्थ शिक्षक मेहतर सिंह धुर्वे की लंबे समय से ग्रामीण शिकायत कर रहे है। वे स्कूल में बच्चों को पढ़ाने की जगह कक्षा में ही सो जाते हैं। इससे पहले भी शराब पीकर स्कूल आने को लेकर उनकी कई बार शिकायत हो चुकी है। गुरूवार को चौरई आए ग्रामीणों ने इस मामले में शिकायत की। गौरतलब हैं कि पांच साल पहले तत्कालीन एसडीएम नम: शिवाय अरजरिया ने करलई स्कूल की जांच की थी तब शिक्षक शराब के नशे में मिले थे। श्री अरजरिया ने शिक्षक को अपने वाहन में चौरई लाकर उसका मुलाहजा करवाया था। हालांकि इसके बाद भी शिक्षक पर कार्रवाई नहीं हो पाई थी।

एक दिव्यांग शिक्षक के हवाले स्कूल
ग्रामीणों ने बताया कि शिक्षक मेहतर सिंह धुर्वे बच्चों को नहीं पढ़ाते है। वे कक्षा में ही सो जाते है। ऐसे में पूरे स्कूल का जिम्मा एक दिव्यांग शिक्षक पर आ जाता है।

इनका कहना है
इस मामले में पहले भी दो से तीन बार प्रतिवेदन बनाकर दिए जा चुके है। पांच साल पहले एसडीएम ने भी जांच में शिक्षक को नशे में पाया था। इस मामले में कार्रवाई की जाएगी। -सलीम खान,प्राचार्य संकुल चौरई

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर