comScore

सहायक कोच संजय बांगड़ पर गिर सकती है गाज, बल्लेबाजी क्रम मजबूत न कर पाना है वजह

सहायक कोच संजय बांगड़ पर गिर सकती है गाज, बल्लेबाजी क्रम मजबूत न कर पाना है वजह

हाईलाइट

  • सहायक कोच संजय बांगड़ को बल्लेबाजी क्रम मजबूत ना कर पाने के चलते पद से हटाया जा सकता है
  • गेंदबाजी और फील्डिंग पिछले डेढ़ साल का काम रहा बेहतरीन - बीसीसीआई अधिकारी
  • बीसीसीआई ने कहा - खिलाड़ियों को है हमारा पूरा समर्थन

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। विश्व कप में भारत की हार के बाद से टीम प्रबंधन सकते में है। भारत की हार की वजहों पर गौर किया जा रहा है और उनमें सुधार करने की कोशिश की जा रही है। ऐसे में जहा भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री समेत कोचिंग स्टाफ के करार को विश्व कप के बाद 45 दिनों के लिए बढ़ाया जा सकता है वहीं सहायक कोच संजय बांगड़ को उनकी जिम्मेदारी सही ढंग से ना निभाने के चलते पद से हटाया जा सकता है। सूत्रों के हवाले से ये बात कही जा रही है।

जानकारी के अनुसार, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के कुछ लोगों का मानना है कि बांगड़ को और बेहतर तरीके से काम करना था। बांगड़ भारतीय बल्लेबाजी क्रम की परेशानियों को लंबे समय तक सुधार नहीं पाए जिसके चलते टीम को विश्व कप के सेमीफाइनल तक पहुंच कर भी विजेता बनने में सफलती नहीं मिल सकी। सूत्रों के अनुसार, बांगड़ द्वारा बल्लेबाजी के चौथे पायदान पर एक मजबूत बल्लेबाज को ना चुन पाना बीसीसीआई को नागवार गुजरा।

बता दें कि, संजय सहायक कोच होने के साथ-साथ टीम के बल्लेबाजी कोच भी हैं। उनकी कोचिंग में टीम के बल्लेबाजी क्रम में कई बार बदलाव हुए। खासकर मध्यक्रम में तो वर्ल्ड कप से पहले तक बदलाव किए गए। 

इस मुद्दे पर बात करते हुए बीसीसीआई के एक अधिकारी ने गेंदबाजी और फील्डिंग के काम की तारीफ की है। उनका कहना है कि, गेंदबाजी कोच भरत अरुण और फील्डिंग कोच आर श्रीधर का पिछले डेढ़ साल का काम बेहतरीन रहा, लेकिन बांगड़ के बारे में ऐसा नहीं कहा जा सकता, क्योंकि कई बार टीम की बल्लेबाजी जूझती दिखी है।

अधिकारियों ने कहा है कि हम खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करते हैं, क्योंकि टीम केवल एक मैच (न्यूजीलैंड के खिलाफ) में खराब खेली। लेकिन स्टाफ की प्रक्रिया और निर्णय की जांच की जाएगी। इसके बाद उनके भविष्य से जुड़ा निर्णय लिया जाएगा।”

कमेंट करें
WTEjM