comScore
Election 2019

लालू-राबड़ी के साथ नहीं रहना चाहते तेजप्रताप, मांगा अलग बंगला

December 03rd, 2018 20:24 IST
लालू-राबड़ी के साथ नहीं रहना चाहते तेजप्रताप, मांगा अलग बंगला

हाईलाइट

  • राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के घर में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है।
  • तेजप्रताप अपने पिता लालू और मां राबड़ी देवी के साथ नहीं रहना चाहते हैं।
  • तेजप्रताप एक अलग बंगले की मांग कर रहे हैं।

डिजिटल डेस्क, पटना। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के घर में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। लालू और राबड़ी के बड़े बेटे और विधायक तेजप्रताप, पत्नी ऐश्वर्या को तलाक देने के बाद से चर्चा में बने हुए हैं। तेजप्रताप से संबंधित एक और बड़ी खबर सामने आई है। जानकारी के अनुसार, तेजप्रताप अपने पिता लालू और मां राबड़ी देवी के साथ नहीं रहना चाहते हैं। वह एक अलग बंगले की मांग कर रहे हैं। 28 नवंबर को पटना लौटने के बाद अब तक वह घर नहीं गए हैं और दोस्तों के साथ रह रहे हैं। हाल ही में तेजप्रताप ने कोर्ट में अपनी पत्नी से तलाक की याचिका दायर की है।

तेज प्रताप ने भवन निर्माण मंत्री महेश्वरी हजारी से अपने लिए अलग बंगले की मांग की है। तेजप्रताप के निकट सहयोगियों के मुताबिक उन्होंने टेलर रोड स्थित बंगला नम्बर 2 की मांग की है। हालांकि महेश्वरी का कहना है कि वह केवल सेंट्रल पूल के बंगलों को ही रजिस्टर कर सकते हैं। विधायकों के बंगले केवल विधानसभा और विधानपरिषद सेक्रेटेरियट ही तय कर सकते हैं। तेजप्रताप काफी दिनों से घर से बाहर हैं। उन्होंने अपने परिवार पर ऐश्वर्या से जबरदस्ती शादी करने का भी आरोप लगाया था। तेजप्रताप ने कहा था कि राजनीतिक लाभ लेने के लिए उनके परिवार वालों ने ऐसा किया।

तेजप्रताप पिछले 27 दिनों से लापता थे। तेजप्रताप के घर वालों को भी उनके बारे में कोई जानकारी नहीं थी। हालांकि 28 नवंबर को वह पटना लौटे, पर अपने घर नहीं लौटे। वह पहले तो एक होटल में रहे, फिर अपने दोस्तों के साथ रहने लगे। जानकारी के अनुसार राबड़ी देवी ने उन्हें फोन कर घर लौटने को भी कहा पर वह नहीं लौटे। इससे चिंतित राबड़ी और लालू यह पता लगाने में जुटे हैं कि एक महीने से घर से बाहर रहने और यात्रा करने के दौरान तेजप्रताप की आर्थिक मदद किसने की। पार्टी के कार्यकर्ताओं का कहना है कि कोई दूसरी पार्टी उन्हें अपने मां-बाप से अलग करने की साजिश रच रही है। राबड़ी देवी के 10-सर्कुलर रोड स्थित आवास से लेकर पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं के बीच यह चर्चा का विषय बना हुआ है।

Loading...
कमेंट करें
dRVDg
Loading...