comScore

पुलिस ने पकड़ा कफ सिरप का जखीरा, बाजार में कीमत 60 लाख रुपए

पुलिस ने पकड़ा कफ सिरप का जखीरा, बाजार में कीमत 60 लाख रुपए

डिजिटल डेस्क, सतना। जिले में मेडिकल नशे के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने कोलगवां थाना क्षेत्र के टिकुरिया टोला स्थित गोदाम में छापा मारकर 419 पेटी कफ सिरप जब्त कर लिया तो मौके से आरोपी को पकड़ लिया, जिससे पूछताछ की जा रही है। इस संबंध में पुलिस कप्तान रियाज इकबाल ने बताया कि शहर में मेडिकल नशे के काले कारोबार की तह तक पहुंचने के लिए मुखबिरों के साथ ही विशेष टीम को काम पर लगाया गया था, कई दिनों की कोशिश के बाद बुधवार शाम को मुखबिर से सटीक सूचना मिलने पर सीएसपी विजय प्रताप सिंह ने बांस नाका के समीप जानकीपुरम कालोनी में दबिश देकर एक गोदाम की तलाशी ली, जिसके 2 हिस्सों में मटर और माचिस का स्टाक मिला, पर जब बीच वाले भाग का ताला खोलकर पुलिस टीम अंदर गई तो वहां  कफ् सिरप का स्टॉक देखकर आंखें चौधियां गईं। बड़ा जखीरा पकड़े जाने की खबर एएसपी गौतम सोलंकी को दी गई तो वह मौके पर पहुंच गए। वहीं उचेहरा क्षेत्र के दौरे पर निकले पुलिस कप्तान रियाज इकबाल भी सीधे टिकुरिया टोला आ गए। जांच-पड़ताल करने पर कुल 419 पेटी माल मिला, जिसका बाजार मूल्य 60 लाख रूपए आंका गया। उक्त माल संजय कुमार ताम्रकार पुत्र संतशरण 40 वर्ष निवासी कटरा मोहल्ला-रामपुर बाघेलान के द्वारा रखवाया गया था, जिसने स्टेशन रोड पर कंधारी पान मसाला के थोक व्यापारी कुशाल कंधारी से उनके गोदाम का बीच वाला हिस्सा किराए पर लिया था। इस कार्रवाई में कोलगवां थाने के आरक्षक कमलाकर सिंह, सीएसपी कार्यालय के आरक्षक जगदीश मीणा, राहुल सिंह, सिविल लाइन के आरक्षक राहुल तिवारी आदि ने अहम भूमिका निभाई है।

व्यापारी को ग्राहक बनकर पकड़ा 

पुलिस टीम को 4 दिनों से कफ सिरप की बड़ी खेप उतरवाए जाने की सूचना मिल रही थी, लिहाजा सीएसपी ने अलग-अलग थानों के जवानों को रेकी के लिए लगा रखा था। कोतवाली के एसआई नीरज खरे को भी पतासाजी की जिम्मेदारी दी गई थी। लगातार निगरानी के चलते बुधवार को पुख्ता खबर मिलने पर पुलिस टीम तुरंत मौके पर गई और पुष्टि करने के लिए सीएसपी ने सिविल ड्रेस में पुलिस जवानों को ग्राहक बनाकर आरोपी संजय ताम्रकार के पास भेजा, जिसने बड़े सौदे के लालच में गोदाम का स्टाक दिखा दिया। तब इशारा मिलते ही आसपास छिपी पुलिस टीम ने सामने आकर उसे दबोच लिया। हालांकि कार्रवाई में दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा। मौके पर मुख्य शटर के तालों की चाभियां नहीं थीं। इसके चक्कर में एक घंटे तक पुलिस बाहर ही खड़ी रही, जब व्यापारी ने चाभियां मंगवाई तब जाकर बात आगे बढ़ी। 

रीवा में है मेडिकल स्टोर

आरोपी संजय ताम्रकार रीवा के फोर्ट रोड में बालाजी इंटरप्राइजेज के नाम से मेडिकल स्टोर चलाता है। विगत दिनों रीवा में पकड़े गए एक ट्रक कफ् सिरप के मामले में भी उसका नाम सामने आया था। आरोपी से पूछताछ कर सिरप मंगाने और स्टाक करने के दस्तावेज मांगे गए हैं, साथ ही माल बेचने और उससे खरीदने वालों की जानकारी भी तलब की जा रही है। जांच में सहयोग के लिए ड्रग इंस्पेक्टर से भी संपर्क किया गया है, पर वह मौके पर नहीं पहुंची।

नशेड़ियों की पहली पसंद

ऑनरेक्स सिरप में कोडीन की मात्रा अन्य सिरप से काफी ज्यादा होती है और दूसरे नशीले पदार्थों से यह सस्ता पड़ता है तो गंध भी नहीं आती। ऐसे में नशे के आदी लोग इस सिरप का इस्तेमाल अपनी लत के लिए करते हैं जिसका फायदा मेडिकल स्टोर संचालक और व्यापारी उठा रहे हैं। जिले के रामपुर बाघेलान, अमरपाटन, रामनगर में हजारों युवा इसकी चपेट में हैं।
 

कमेंट करें
n8kpz