comScore
Dainik Bhaskar Hindi

रंगे हांथ पकड़ा गया पटवारी- किसान से मांगी थी 6 हजार रू की रिश्वत

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 12th, 2018 15:11 IST

2.4k
0
0
रंगे हांथ पकड़ा गया पटवारी- किसान से मांगी थी 6 हजार रू की रिश्वत

डिजिटल डेस्क, लिधौरा/टीकमगढ़। लोकायुक्त पुलिस ने लिधौरा तहसील के भ्रष्ट पटवारी कन्हैयालाल राजपूत को 4 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है।आरोपी पटवारी लिधौरा तहसील के जेवर हल्का में पदस्थ है। उसने जमीन की तरबीन के बदले किसान से 6 हजार रुपए की मांग की थी। शिकायतकर्ता रामचरण गुप्ता ने रिश्वत के 4 हजार रुपए पटवारी को सौंपे। इसी दौरान लोकायुक्त टीम ने उसे रंगेहाथ पकड़ लिया। जांच के दौरान बताया गया कि साल 2015 में भी पटवारी कन्हैयालाल 2 हजार की रिश्वत के आरोप में पकड़ा गया था। इसके बाद भी घूसखोरी का सिलसिला बंद नहीं किया।

आरोपी पटवारी कन्हैयालाल लंबे समय से विवादों में रहा है। हल्का क्षेत्र के किसानों ने बताया कि बिना रिश्वत वह कोई काम नहीं करता। शिकायतकर्ता रामचरण गुप्ता को जमीन की तरबीन करवाने के लिए काफी समय से परेशान कर रहा था। इस दौरान उसने 6 हजार रुपए रिश्वत की मांग की। मामले की शिकायत रामचरण गुप्ता ने लोकायुक्त सागर में दर्ज करा दी। लोकायुक्त टीम ने पहले मामलेे की जांच की। जब शिकायत सही पाई गई तो आरोपी पटवारी के लिए जाल बिछाया गया। रामचरण गुप्ता ने पटवारी को पहले 2 हजार रुपए की रिश्वत दी। शेष 4 हजार रुपए बाद में  देना तय हुआ। आज किसान रिश्वत के 4 हजार रुपए लेकर राजस्व कार्यालय पहुंचा। जहां पटवारी कन्हैयालाल को रिश्वत के राशि सौंपी गई। इसी दौरान लोकायुक्त टीम ने पहुंचकर रंगेहाथ उसे पकड़ लिया। भ्रष्ट पटवारी के हाथ धुलवाने पर हाथों से भ्रष्टाचार का लाल रंग निकला। टीम ने सैम्पल लेकर घूसखोर पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत के मामला दर्ज किया। हालांकि आरोपी पटवारी को तुरंत जमानत देकर छोड़ दिया गया। सागर लोकायुक्त टीम में संतोष जावरा टीआई, मंजू सिंह टीआई, आरक्षक सफीम खान, सुरेंद्र सिंह सहित अन्य शामिल रहे।

तीन साल पहले भी पकड़ा गया था
पटवारी कन्हैयालाल राजपूत का पुराना रिकॉर्ड भी विवादित रहा है। इसके पहले साल 2015 में उसे 2 हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा गया था। उस समय पटवारी कन्हैयालाल पलेरा तहसील के बूदौर हल्का में पदस्थ था।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर