comScore
Dainik Bhaskar Hindi

सौर ऊर्जा से प्रदेश की मैट्रो रेल को 3026 मिलियन यूनिट दी जायेगी

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 12th, 2018 15:53 IST

2.7k
0
0
सौर ऊर्जा से प्रदेश की मैट्रो रेल को 3026 मिलियन यूनिट दी जायेगी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। प्रदेश के मंदसौर, नीमच, आगर और शाजापुर सौर पार्क से कुल उत्पादित 1500 मेगावाट बिजली में से मप्र के भोपाल, इंदौर एवं जबलपुर में क्रियान्वित होने वाली मैट्रो रेल परियोजना को 3026 मिलियन यूनिट बिजली दी जायेगी। इस संबंध में राज्य के नवकरणीय ऊर्जा विभाग ने निर्णय लिया है। ज्ञातव्य है कि उक्त सौर ऊर्जा पार्क राज्य एवं केंद्र के नवकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा विकसित किये जायेंगे। उक्त सौर ऊर्जा पार्कों का विकास रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड द्वारा किया जायेगा। राज्य के नवकरणीय ऊर्जा विभाग के ताजा निर्णय के अनुसार, इन सौर पार्कों की स्थापना हेतु शासकीय भूमि उपलब्ध कराई जायेगी। इसके अतिरिक्त चक भूमि की आवश्यक्ता के द़ष्टिगत शासकीय भूमि से लगी हुई अथवा बीच में आने वाली निजी भूमि आपसी सहमति से भूमि क्रय नीति के अनुसार क्रय की जाकर उपलब्ध कराई जायेगी। 

सोलर पार्क से उत्पादित बिजली में से राज्य में स्थित मैट्रो को विक्रय हेतु 3026 मिलियन यूनिट और भारतीय रेल को राज्य के बाहर उपयोग हेतु 782 मिलियन यूनिट प्रदाय की जायेगी, जिसमें आवश्यक्तानुसार पुनरीक्षण के निर्णय हेतु राज्य के नवकरणीय ऊर्जा विभाग को अधिकृत किया गया है। 

ताजा निर्णय में यह भी कहा गया है कि ये सौर परियोजनायें सेन्ट्रल ट्रांसमीशन यूटिलिटी से संबध्द की जायें और यह संबध्दता साध्य न होने पर स्टेट ट्रांसमीशन यूटिलिटी से संबध्द की जायें। सोलर पार्कों से उत्पादित कुल 1500 मेगावाट बिजली में से राज्य को 1293 मेगावाट तथा भारतीय रेल को 207 मेगावाट बिजली मिलेगी। निर्णय में सौर पार्कों के लिये भूमि उपयोग अनुज्ञा अनुबंध का प्रारुप भी दिया गया है।

इनका कहना है
‘‘नये सोलर पार्कों के लिये भूमि उपयोग अनुज्ञा अनुबंध का प्रारुप जारी किया गया है। राज्य की मैट्रो रेल को भी इन पार्कों से 3026 मिलियन यूनिट बिजली दी जायेगी।’’ - मनु श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव, नवकरणीय ऊर्जा विभाग, मप्र

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें