comScore

पहले मर्डर किया फिर लाश के टुकड़े, प्रेमी के साथ बनाया था प्लान

July 27th, 2017 17:06 IST
पहले मर्डर किया फिर लाश के टुकड़े, प्रेमी के साथ बनाया था प्लान

दैनिक भास्कर न्यूज़ डेस्क, शहडोल। सिंहपुर थानांतर्गत ग्राम मड़वा निवासी 35 वर्षीय फखरुद्दीन की सिर कटी लाश मामले की गुत्थी सुलझा ली गई है। जिसकी हत्या उसकी तथाकथित प्रेमिका ने अपने प्रेमी व पति के साथ मिलकर की थी। महिला ने देर रात मिलने के बहाने युवक को बुलाया था, उसने उसका हाथ पकड़ा और पीछे से प्रेमी ने बका से सिर पर हमला कर दिया। इसके बाद अलग-अलग स्थानों में शव के टुकड़ों को जंगल में फेंक दिया था। सिंहपुर पुलिस ने हत्या के आरोप में मुन्नीबाई उर्फ सुनीता पटेल (40) तथा उसके पति राम सिंह (42) निवासी ग्राम दुलहा को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि मुन्नी के प्रेमी रमेश उर्फ कलुवा पंडित निवासी अमहा की तलाश की जा रही है। आरोपियों के विरुद्ध धारा 302, 201 के तहत कार्रवाई की जा रही है।  

डीएसपी हेमंत शर्मा ने बताया कि फखरुद्दीन 18 जून को शाम 8 बजे घर से निकला था। जो लौटकर नहीं आया। खोजबीन के बाद भी जब उसका पता नहीं लगा तो पिता सरफुद्दीन ने 20 जून को थाने में सूचना दी। गुमशुदा का मामला दर्ज कर विवेचना की जा रही थी। 22 जून को मुखबिर से जानकारी मिली गांव से थोड़ी दूर सायकिल व कपड़े तथा खून के निशान हैं। पुलिस ने स्थल पर जाकर उक्त सामानों को जब्त किया। सायकिल युवक की ही निकली।

पुलिस ने मृतक के मोबाइल के कॉल डिटेल खंगाले तो पता चला कि उसकी बातचीत 18 जून को मुन्नीबाई से हुई है। जिसे हिरासत में लेकर पूछताछ की गई, जिसने अपराध करना कुबूल कर लिया। महिला ने पुलिस को बताया कि रमेश पंडित से उसके चार साल से अवैध संबंध हैं। कुछ महीनों से कबाड़ का कार्य करने वाले फखरुद्दीन से नजदीकी होने लगी थी। यह बात रमेश को पता चली तो उसने पहले तो मना किया, लेकिन फिर ठिकाने लगाने की योजना बनाई।

घटना के दिन उसने गांव के कब्रिस्तान के पास बुलाया। जहां रमेश पेड़ की ओट में छिपा था। मिलने के लिए युवक का हाथ पकड़ा ही था कि पीछे से रमेश ने गले में वार कर दिया। छीनाझपटी हुई जिससे चूड़ी टूट गई। तीन वार से फखरुद्दीन वहीं ढेर हो गया। इसके बाद सिर को अलग कर धड़ को अलग-अलग बोरियों में भरा और बाइक से 25 किलोमीटर दूर करणपठार थाने के अहिरगवां जंगल की पुलिया के पास फेंक दिया। सिर को दूर ले जाकर फेंका। कपड़ों को जला दिया। हत्या का खुलासा करने में एसपी सुशांत सक्सेना के निर्देशन, डीएसपी हेमंत शर्मा के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी एसआई उमाशंकर यादव, एएसआई एपी तिवारी, प्रधान आरक्षक अवधराज सिंह, नवशीला आदि का सहयोग रहा।

कमेंट करें
zeNKV