comScore

RBI का बड़ा तोहफा, हटाया आरटीजीएस और एनईएफटी चार्ज

RBI का बड़ा तोहफा, हटाया आरटीजीएस और एनईएफटी चार्ज

हाईलाइट

  • भारतीय रिजर्व बैंक ने ट्रांजेक्शन चार्ज RTGS और NEFT हटाया
  • रिजर्व बैंक ने डिजिटल लेन-देन को मजबूत बनाने के इरादे से इन चार्जों को खत्म किया
  • RBI ने चार्ज खत्म करने के साथ ही बैंकों को इसका लाभ ग्राहकों को देने के लिए कहा

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक ने ट्रांजेक्शन चार्ज हटा दिया है। बड़े ट्रांजेक्शन के लिए इस्तेमाल होने वाले रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्टम यानी RTGS फंड ट्रांसफर और नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) के लिए चार्ज अब नहीं लगेंगे। RBI द्वारा उठाए गए इस कदम के बाद सभी बैंक भी अपने ग्राहकों के लिए चार्ज कम कर सकते हैं। रिजर्व बैंक ने डिजिटल लेन-देन को मजबूत बनाने के इरादे से इन चार्जों खत्म किया है। RBI ने चार्ज खत्म करने के साथ ही बैंकों को इसका लाभ ग्राहकों को देने के लिए कहा है। बैंक को इस संबंध में निर्देश एक हफ्ते के अंदर मिल जाएंगे। 

RTGS और NEFT पर चार्ज वसूलता था। शीर्ष बैंक 2 लाख रुपए से 5 लाख रुपए तक की RTGS के लिए 25 रुपए और टाइम वैरिंग चार्ज लेता था। 5 लाख रुपए से अधिक के लिए ये बैंक 50 रुपए और टाइम वैरिंग चार्ज वसूलता था। जबकि 8 घंटे से 11 घंटे तक के लिए बैंक कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लेता था, जबकि 11 घंटे से 13 घंटे के लिए चार्ज 2 रुपए अतिरिक्त, 13 घंटे से 16.30 घंटे के लिए 5 रुपए अतिरिक्त और 16.30 घंटे से ज्यादा के लिए 10 रुपए अतिरिक्त चार्ज वसूलता था। NEFT  के लिए बैंक 10 हजार रुपए तक की राशि पर 2.50 रुपए, 10 हजार रुपए से ज्यादा और 1 लाख रुपए तक की राशि पर 5 रुपए, एक लाख रुपए से 2 लाख रुपए तक की राशि पर 15 रुपए और 2 लाख रुपए से ज्यादा की राशि पर 25 रुपए वसूलता है।

कमेंट करें
7lgGq