comScore

तेंदुपत्ता तोड़ते-तोड़ते बाघ के करीब जा पहुंची महिला, फिर क्या हुआ जानकर उड़ जाएंगे होश

तेंदुपत्ता तोड़ते-तोड़ते बाघ के करीब जा पहुंची महिला, फिर क्या हुआ जानकर उड़ जाएंगे होश

डिजिटल डेसक, मंडला/टाटरी। सुबह का समय था महिला तेंदुपत्ता तोड़ने के लिए जंगल गई हुई थी। तेंदुपत्ता तोड़ने की धुन में वह इस तरह मगन थी कि वह कब जंगल में झाड़ियों में छिपे बाघ के करीब पहुंच गई उसे पता ही नहीं चला। बाघ को जैसे ही उसने अपने करीब देखा तो उसके होश उड़ गए, लेकिन उसने साहस का दामन नहीं छोड़ा। बाघ ने उस पर हमला किया, तो महिला वहीं बैठ गई। फिर हुआ यूं कि बाघ और महिला दोनों एक दूसरे को देखते रहे, जिसके बाद बाघ मौके से महिला को छोड़कर जंगल में भाग गया।

महिला को भेजा अस्पताल
उल्लेखनीय है कि तेंदुपत्ता तोड़ने के लिए गई महिला पर बाघ ने हमला बोल दिया, लेकिन महिला बाघ से नहीं डरी और भागने के प्रयास नही किया और वहीं बैठ गई। जिसके बाद बाघ ही भाग गया। महिला के कंधे में घाव है। वन विभाग द्वारा महिला उपचार के लिए मोचा लाया गया। यहां से जिला अस्पताल भेजा गया। जहां उपचार के बाद घर भेज दिया गया है।

नहीं घबराई मौत को देखकर
बताया गया है कि श्यामा बाई पति मगलू केराम 32 वर्ष निवासी नारना सुबह करीब 6 बजे तेंदुपत्ता तोड़नेके लिए जंगल गई। खटिया रेंज की मोचा बीट में बाघ ने गारा किया था। महिला पत्ता तोड़ने की धुन में बाघ के समीप पहुंच गई। यहां बाघ ने महिला को देखकर हमला बोल दिया। छलांग लगाकर पंजे मारे। जिससे महिला के बांये कंधे में घाव को गया। महिला ने साहस और सूझबूझ का परिचय दिया। सामने मौत को खड़ा देखकर भी नहीं घबराई। महिला उसी जगह बैठ गई। महिला के साहस के सामने बाघ नही टिका। महिला को छोड़कर बाघ भाग गया। जिसके बाद महिला गांव वापस आई। यहां वनविभाग और परिजनों को सूचना दी गई। महिला का पति और वन विभाग की टीम उपचार के लिए मोचा अस्पताल लाये। यहां प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रैफर कर दिया गया। यहां जिला अस्पताल में महिला का उपचार किया गया। इसके बाद घर भेज दिया गया। महिला को चरगांव मायके ले जाया गया है।

कमेंट करें
6E0hl