comScore

कुंभ: बसंत पंचमी पर अंतिम शाही स्नान, लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

February 10th, 2019 22:25 IST

हाईलाइट

  • शाही स्नान के लिए अखाड़े भी अपने शिविर से निकले
  • प्रयागराज आने वाले मार्गों पर वाहनों का प्रवेश रोका
  • एनएसजी व एटीएस कमांडो की सुरक्षा घेरे में प्रवेश द्वार

डिजिटल डेस्क, प्रयागराज। कुंभ नगरी प्रयाग में आयोजित अर्धकुंभ मेले में बसंत पंचमी के अवसर पर श्रद्धालुओं का हुजुम मउड़ रहा है। बता दें कि आज तीसरा और अन्तिम शाही स्नान है और देर रात से बसंत पंचमी का स्नान शुरू हो गया है। मेला प्रशासन के मुताबिक, शाम तीन बजे तक दो करोड़ श्रद्धालुओं ने त्रिवेणी में मोक्ष की कामना के साथ स्नान किया है। यह आंकड़ा रात तक तीन करोड़ पहुंच सकता है। प्रशासन ने इस स्नान पर्व पर दो करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं के पहुंचने का अनुमान लगाया था। वहीं सुरक्षा को लेकर भी प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। कुंभ के सभी प्रवेश द्वार एनएसजी व एटीएस कमांडो की सुरक्षा के घेरे में हैं। बढ़ी संख्या में आने वाली भीड़ को देखते हुए प्रयागराज आने वाले मार्गों पर वाहनों का प्रवेश रोक दिया गया है। 

अखाड़ों ने भी शुरु किया स्नान
तीसरे और अंतिम शाही स्नान के​ लिए अखाड़े भी अपने शिविर से निकल चुके हैं। यहां सबसे पहले श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी और श्री पंचायती अटल अखाड़ा अपने शिविर से निकले। इस अखाड़े के संतों ने सुबह 6:15 बजे संगम घाट पर स्नान किया। इसके बाद श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा और तपोनिधि श्री पंचायती आनंद अखाड़ा ने स्नान किया। वहीं जूना, आवाहन और अग्नि अखाड़ा के संत भी शाही स्नान कर रहे हैं। बता दें कि यहां स्नान के लिए 41 घाट तैयार किए गए हैं। इनमें सभी अखाड़ों को अमरत्व स्नान के लिए 40-40 मिनट का समय दिया गया है। 

ये अखाड़े पहुंचे
तीसरे और अंतिम शाही स्नान के लिए अब तक श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी, श्री पंचायती अटल अखाड़ा, श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा, तपोनिधि श्री पंचायती आनंद अखाड़ा, श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा, श्री पंच दशनाम आह्वान अखाड़ा और श्री शंभू पंच अग्नि अखाड़ा पहुंच चुके हैं। वहीं अन्य अखाड़ों को भी अलग अलग समय दिया गया है। 

इस समय पर पहुेंचेंगे ये अखाड़े
बसंत पंचमी के इस अवसर पर यहां स्नान के लिए सुबह 10.40 बजे अखिल भारतीय श्री पंच निर्वाणी अनी अखाड़ा के संत पहुंचेंगे। वहीं अखिल भारतीय श्री दिगंबर अनी अखाड़ा को सुबह 11.20 बजे, अखिल भारतीय श्री पंच निर्मोही अनी अखाड़ा को दोपहर 12.20 बजे, श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन को दोपहर 13.15 बजे, श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन को दोपहर 14.20 बजे और श्री पंचायती अखाड़ा निर्मला को दोपहर 15.40 बजे का समय दिया गया है। 

कमेंट करें
9c4Sn