comScore
Dainik Bhaskar Hindi

अब पिता नहीं गुरु का नाम लिखेंगे थर्ड जेंडर

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 14:26 IST

729
0
0
अब पिता नहीं गुरु का नाम लिखेंगे थर्ड जेंडर

टीम डिजिटल, कोरबा. छत्तीसगढ़ में थर्ड जेंडर को अपनी एक अलग देते हुए शासन ने एक आदेश जारी किया है. जिसके तहत परिचय पत्र व अन्य प्रमाणपत्रों के लिए भरे जाने वाले आवेदन में थर्ड जेंडर को माता-पिता के स्थान पर गुरु का नाम लिखने का प्रावधान किया गया है. परिचय पत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया के तहत पंचायत एवं समाज कल्याण विभाग कार्यालय से संपर्क कर आवेदन प्राप्त करने उन्हें सूचित किया जा रहा है.

छ्त्तीसगढ़ में थर्ड जेंडर की पहचान सुनिश्चित करते हुए समाज की मुख्य धारा से जोड़ने संबंधी सर्वेक्षण पूरा हो गया है. अब उन्हें परिचय पत्र देने की कवायद शुरू है. इसके लिए सूचना भेजकर आवेदन करने को कहा गया है. इसमें उन्हें अपने आवेदन में पिता के स्थान पर गुरु का नाम लिखने की सहूलियत मिली है. इस सर्वे से जिले में वर्ग विशेष के 268 लोगों को चिन्हित किया गया है. पंचायत एवं समाज कल्याण विभाग ने नगर और ग्रामीण क्षेत्रों में थर्ड जेंडर के लोगों का आंकड़ा जुटाने का सर्वे किया है.

शासन के निर्देश से इस वर्ग को पहचान देने और समाज की मुख्य धारा में लाने की यह कोशिश है. इस सर्वे में कुल 268 लोगों को चिन्हित किया गया है, जिन्हें परिचय पत्र बनाकर देने की प्रक्रिया जारी है. थर्ड जेंडर श्रेणी के लोगों को कई बार परिवार से अलग रहने को मजबूर होना पड़ता है. ऐसे में परिजनों की बजाय समुदाय विशेष के मुखिया या गुरु ही उनके पालक की भूमिका निभाते हैं. परिचय पत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया के तहत पंचायत एवं समाज कल्याण विभाग कार्यालय से संपर्क कर आवेदन प्राप्त करने उन्हें सूचित किया जा रहा है.

पंचायत एवं समाज कल्याण के उप संचालक एसएस मैथ्यू ने कहा है कि तृतीय लिंग का सर्वे कार्य पूरा हुआ, अब उन्हें परिचय पत्र तैयार कर वितरित करने की प्रक्रिया चल रही. चार समूह में रख जिले में 268 लोग चिन्हांकित हुए हैं, जिन्हें पंचायत एवं समाज कल्याण विभाग के कार्यालय पहुंचकर फॉर्म प्राप्त करने सूचना भेज दी गई है. इसके बाद वे मेडिकल बोर्ड से सर्टिफिकेट लेकर पुन: विभाग पहुंचे तो परिचय पत्र प्रदान कर दिया जाएगा. थर्ड जेंडर से संबद्ध व्यक्ति जिस स्थिति में रह रहे हैं, उसके अनुसार पालक का नाम लिख सकते हैं. अगर वे माता-पिता से अलग हैं तो उनके स्थान पर फॉर्म में गुरु लिख सकते हैं.

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download