comScore

ये है पहली Royal Enfield Bullet जिसमें है है रिवर्स गियर

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 04th, 2018 16:44 IST

ये है पहली Royal Enfield Bullet जिसमें है है रिवर्स गियर

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। Royal Enfield की मोटरसाइकल्स काफी भारी होती हैं और इनमें से एक है Bullet। कई लोग इन बाइक्स को केवल इसलिए नहीं खरीदते क्योंकि ये काफी भारी होती है और इसे कम स्पीड या फिर पार्किंग के वक्त हैंडल करना काफी मुश्किल होता है। इस मुसीबत का अब एक देसी इलाज खोज लिया गया है। Royal Enfield चलाने वाले एक भारतीय जगदीश रावल ने 350cc Bullet में रिवर्स गियर फिट करने में सफलता पाई है। नीचे वीडियो में आप देख सकते हैं कि वे ‘रिवर्स गियर’ का इस्तेमाल कर बहुत ही आराम से पार्किंग में से अपनी बाइक को ले जा रहे हैं।

इस Bullet 350 में एक ऐसा गियरबॉक्स लगाया गया है जिसमें रिवर्स गियर उपलब्ध है।  ये गियरबॉक्स एक साइडकार बनाने वाली कंपनी से लिया गया है। इस 350cc Bullet में इस्तेमाल किया गए ‘रिवर्स गियर’ में एक न्यूट्रल फाइंडर भी है। इसलिए अगर आप रिवर्स गियर में जाना चाहते हैं तो पहले आपको न्यूट्रल फाइंडर पर कदम रखना होगा और फिर रिवर्स गियर में जाने के लिए इसे ऊपर शिफ्ट करना होगा।

भारत में कई ऐसी हाई-एंड मोटरसाइकिल हैं जो कि काफी भारी हैं। इनको पार्क करने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है क्योंकि इनके वजन की वजह से इन्हें पीछे ले जाना काफी तकलीफदेह होता है। केवल Honda ही ऐसी बाइक कंपनी है जो रिवर्स गियर युक्त बाइक बाजार में लॉन्च करती है। इस बाइक को Gold Wing कहा जाता है और ये एक हाई-एंड cruiser है जो कई कार जैसे फीचर्स के साथ उपलब्ध है।

कई सारे हाई-एंड मोटरसाइकिल निर्माता बाइक बनाते समय भारतीय शहरों में पार्किंग में होने वाली परेशानियों को ध्यान में नहीं रखते।  दुनिया के ज्यादातर हिस्सों में हाई-एंड बाइक्स का इस्तेमाल मज़े की सवारी करने के लिए होता है और वहां पार्किंग की जगह ढूंढना ज्यादा कठिनाई का काम नहीं है।  मगर भारत में मज़े की सवारी भी बाइक चलाने वालों को ऐसी जगह ले जाती है जहां पार्किंग भी करना काफी मुश्किल होता है।

ऐसे हालातों में ‘रिवर्स गियर’ काफी लाभदायक साबित होता है | मगर ऐसे गियरबॉक्स को मॉडर्न बाइक्स में लगाना मुश्किल होगा जिनमे ‘यूनिट कंस्ट्रक्शन इंजन’ होता है। ऊपर वीडियो में Bullet 350 में ये ‘रिवर्स गियर’ इतनी आराम से इसलिए फिट हो गया क्योंकि ये पुराना मॉडल है और इसमें ‘यूनिट कंस्ट्रक्शन इंजन’ का इस्तेमाल नहीं हुआ। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l