comScore

प्रकाश अंबेडकर बोले - जो वंदे मातरम गाता है वो एंटी-इंडियन

October 23rd, 2018 23:26 IST
प्रकाश अंबेडकर बोले - जो वंदे मातरम गाता है वो एंटी-इंडियन

हाईलाइट

  • देश के राष्ट्रगीत वंदे मातरम पर एक बार फिर सियासी घमासान छिड़ गया है।
  • BBM के संस्‍थापक प्रकाश अंबेडकर का कहना है कि जब राष्ट्रगान जन गण मन है तो फिर राष्ट्रगीत की क्या जरुरत?
  • उन्होंने वंदे मातरम गाने वालों को एंटी इंडियन बताया है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश के राष्ट्रगीत वंदे मातरम पर एक बार फिर सियासी घमासान छिड़ गया है। भारिप बहुजन महासंघ (BBM) के संस्‍थापक और राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष प्रकाश अंबेडकर का विवादित बयान इसकी वजह बना है। प्रकाश अंबेडकर का कहना है कि जब राष्ट्रगान जन गण मन है तो फिर राष्ट्रगीत की क्या जरुरत? इतना ही नहीं उन्होंने वंदे मातरम गाने वालों को एंटी इंडियन बताया है।

प्रकाश अंबेडकर महाराष्ट्र के परभनी में एक रैली कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए सवाल पूछा कि क्या बीजेपी राष्ट्रगान में विश्वास नहीं रखती? "हमारा राष्ट्रगान जन गण मन है नकि वंदे मातरम। जब आधिकारिक राष्ट्रगान मौजूद है तो फिर किसी दूसरी चीज की क्या जरुरत है। ये लोगों की पसंद पर छोड़ देना चाहिए कि वह राष्ट्रगान गाना चाहते हैं या फिर राष्ट्रगीत। वो लोग राष्ट्रवादी हैं जो राष्ट्रगीत गातें है और यदि कोई राष्ट्रगीत नहीं गाता है तो वह गद्दार हो गए? लोगों को राष्ट्रभक्ति का सर्टिफिकेट देने वाले ‘वो’ लोग कौन होते हैं?"

बता दें कि ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी समेत कई मुस्लिम नेता कहते रहे हैं कि राष्ट्रगीत 'वंदे मातरम' की इज्जत होनी चाहिए, लेकिन 'जगनण मन' तो राष्ट्रगान है, इसलिए राष्ट्रगीत को कभी राष्ट्रगान की जगह नहीं लाया जाना चाहिए। पिछले साल महाराष्ट्र विधानसभा के बाहर ‘वंदे मातरम्’ को लेकर बीजेपी और AIMIM के विधायकों में बहसबाजी भी हुई थी। बीजेपी विधायक ने ये तक कह डाला था कि जो वंदे मातरम् नहीं गाना चाहते उनको पाकिस्तान चले जाना चाहिए।

पिछले महीने, प्रकाश अम्बेडकर ने महाराष्ट्र में लोकसभा चुनावों के लिए ओवैसी पार्टी AIMIM के साथ गठबंधन की घोषणा की थी। गठबंधन के बाद उन्होंने 'जय भीम जय मीम' का नारा भी दिया था। कांग्रेस पार्टी ने BMM की मांगों को स्वीकार नहीं किया था जिसके बाद यह गठबंधन सामने आया था। अम्बेडकर ने कहा था कि उनकी पार्टी ने कांग्रेस से राज्य की 28 विधानसभा सीटों में से 12 सीटों चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी। हालांकि, उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि उनकी पार्टी नामांकन के अंतिम दिन तक कांग्रेस के लिए दरवाजे खुले रखेगी।

कमेंट करें
EM9gA