comScore
Election 2019

खेतों में नरवाई न जलाएं, खाद के लिए है बहुत उपयोगी

खेतों में नरवाई न जलाएं, खाद के लिए है बहुत उपयोगी

डिजिटल डेस्क, शहडोल। कमिश्नर शोभित जैन ने खेतों में नरवाई और पत्तों को जलाने के विरुद्ध संभाग में जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि खेतों की नरवाई और पेड़ों के पत्ते मिट्टी की उर्वरा शक्ति बढ़ाने में सहायक होते हैं, लेकिन जानकारी के अभाव में किसान खेतों में फसल कटने के बाद नरवाई को जला देते हैं। वहीं पेड़ों से गिरने वाले पत्तों को भी जला दिया जाता है।

ग्रामीण आजीविका मिशन की संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक में कमिश्नर ने कहा कि नरवाई और पत्तों को जलाने के विरुद्ध लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है। इसमें ग्रामीण आजीविका मिशन की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है। इसी तरह संभाग के नगरीय और ग्रामीण क्षेत्रों में लगने वाले हाट बाजारों से निकलने वाले कचरे का भी उचित प्रबंधन करने, कचरे को डस्टबिन में डालने के लिए सामग्री विक्रेताओं को जागरूक करने के लिए भी ग्रामीण आजीविका मिशन की अहम भूमिका हो सकती है। आजीविका मिशन के सभी अधिकारी, कर्मचारी एवं सदस्य इसमें अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। बैठक में संभाग के सभी जिला परियोजना समन्वक ग्रामीण आजीविका मिशन उपस्थित थे। 

जैविक खेती बढ़ाए-
कमिश्नर ने कहा कि संभाग के ऐसे गांव जो नदियों के किनारे बसे हैं। जहां पानी की समुचित उपलब्धता है, उन्हें चिन्हित कर वहां किसानों को जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित करें। जैविक उत्पादों का रजिस्ट्रेशन भी कराएं और बिक्री के लिए उन्हें बाजार में उपलब्ध कराएंं। संभाग के किसानों को खस घास, मुनगा के पेड़ लगाने और मत्स्य पालन के लिए भी प्रोत्साहित करें। 

नदी तालाबों का संरक्षण-
कमिश्नर ने कहा है कि संभाग में शीघ्र ही नदियों और तालाबों के सरंक्षण के लिए जल ही जीवन है अभियान चलाया जाएगा। इसमें वन विभाग, कृषि विभाग जल संसाधन विभाग पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग सहित अन्य विभागों को जोड़ा जाएगा। नदियों और तालाबों के संरक्षण व संवर्धन के लिए लोगों को जागरूक किया जाएगा तथा वनों का महत्व भी बताया जाएगा।

Loading...
कमेंट करें
dByWZ
Loading...