comScore
Dainik Bhaskar Hindi

मुंबई से नागपुर आने वाली गाड़ियां हुईं प्रभावित, यात्री होते रहे परेशान

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 13th, 2018 22:38 IST

1k
0
0
मुंबई से नागपुर आने वाली गाड़ियां हुईं प्रभावित, यात्री होते रहे परेशान

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गुरुवार शाम को स्टेशन आ रही कुछ गाड़ियों को अचानक बीच रास्ते में रोका गया था। जिससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना प़ड़ा। हालांकि रेलवे इसे ट्रैक मेंटनेन्स के लिए ब्लॉक लेने की बात कह रही है। लेकिन सूत्रों की माने तो बुट्टोबोरी के पास रेल फ्रैक्चर की घटना हुई थी। जिससे गाड़ियों का आवागमण बंद कर दिया था। सूत्रों के अनुसार शाम 5 बजे के करीब बुट्टीबोरी स्टेशन से नागपुर के लिए निकली मुंबई-नागपुर नंदीग्राम एक्सप्रेस को अचानक रोका गया। एक घंटे से ज्यादा समय होने के बाद भी गाड़ी को आगे नहीं बढ़ाया गया।

ऐसे में पीछे से आनेवाली अहमदाबाद-हावड़ा एक्सप्रेस व कोल्हापुर-गोंदियां एक्सप्रेस को भी रोका गया था। रेलवे के मिताबिक पटरियों से गीट्टी के लेयर कम होने से यहां ब्लॉक लेकर काम किया जा रहा था। उम्मीद थी, कि काम जल्दी हो जाएगा। लेकिन काम में समय लग गया था। ऐसे में गाड़ियों को ज्यादा देर तक रोकना पड़ा। हालांकि रेल सूत्रों के अनुसार बुट्टीबोरी पुलियां 810 किमी से 814 किमी के बीच में रेल फ्रैक्चर की घटना हुई थी। दुर्घटना की आशंका में गाड़ियों को अचानक रोका गया। ऐसे में उक्त गाड़ियां नागपुर स्टेशन पर 1 घंटे से ज्यादा समय विलंब से पहुंची। एस.जी. राव, साहायक वाणिज्य प्रबंधक, मध्य रेलवे नागपुर मंडल के मुताबिक वह सामान्यतौर पर एक ब्लॉक था, जिसमें 30 मिनट का अंदाजा था। लेकिन काम खत्म होने में थोड़ा समय लग गया, जिससे नंदीग्राम एक्सप्रेस के पीछ आनेवाली गाड़ियां भी प्रभावित रही।

आगरा से लाया मोर पंख बेचने वाला गिरोह धराया
उधर एक शख्स आगरा से 16 हजार मोर पंख नागपुर ला रहा था। इससे पहले की वह शहर के भीतर इसे बेच पाता एक वन्यजीव संरक्षक की इस पर नजर पड़ी। आरपीएफ को सूचना मिलते ही पंख बेचेवाले व्यक्ती को पकड़कर वन विभाग को सौंपा गया है। पंख की कुल कीमत 3 हजार 2 सौ रुपये बताई गई। सुबह करीब 8 बजे वन्यजीव संरक्षक दीपक बलजीत सिंह (26) निवासी दिल्ली  आरपीएफ थाने पहुंचे। उन्होंने बताया कि एक व्यक्ती बड़ी संख्या में मोर पंख लिये प्लेटफार्म नंबर 3 के मुंबई छोर पर खड़ा है।

आरपीएफ के कांस्टेबल ने उसे हिरासत में लेकर थाने लाया। जहां पूछताछ के बाद व्यक्ति ने अपना नाम राजीवसिंह उद्यसिह (21) निवासी इटावा बताया। साथ ही उसने यह पंख आगरा से खरीदकर लाने की बात कही। आरपीएफ ने तुरंत इसकी जानकारी सेमिनरी हिल्स वन अधिकारी को दी। जिसके बाद तुरंत वन विभाग की टीम ने आरोपी को हिरासत में लेकर कार्रवाई की। आरपीएफ की कार्रवाई मंडल सुरक्षा आयुक्त ज्योतिकुमार सतिजा के मार्गदर्शन में की गई।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर