comScore
Dainik Bhaskar Hindi

विधानसभा चुनाव की तैयारी, त्रिपुरा में बीजेपी ने बदला भारत मां का भेष

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 30th, 2018 15:09 IST

1.2k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देशभक्ति की बात होती है तो हमेशा 'भारत माता की जय' का नारा सब जगह गूंज उठता है। हाथ में तिरंगा लिए, साड़ी पहने मां का चेहरा हमारी आंखों के सामने आ जाता है, लेकिन लगता है कि अब बीजेपी हर राज्य के लिए भारत माता का चित्रण अलग करने की तैयारी में हैं। वोट बैंक की राजनीति खेलते हुए बीजेपी त्रिपुरा में भारत माता का नया चित्रण कर रही है। बता दें कि 2018 में त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव होने हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए अपने नए रूप में भारत माता राज्य की पारंपरिक ड्रेस पहने दिखाई देंगी। त्रिपुरा के 4 प्रमुख आदिवासी समुदाय जैसी ड्रेस पहनते हैं, ठीक उसी तरह की पोशाक पहने भारत माता को भी दिखाया जाएगा।

एक बड़े अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिर्पोट के मुताबिक मोदी सरकार ने वोट बैंक की राजनीति करते हुए नॉर्थ-ईस्ट के सभी आदिवासी समुदायों के लिए भारत माता के रूप को बदलने की तैयारी कर ली है। त्रिपुरा के बीजेपी प्रभारी सुनील देवधर का कहना है, 'इस क्षेत्र का आदिवासी समुदाय सालों से खुद को देश से अलग महसूस करता आया है, इसलिए इसे खत्म करने के लिए यह कदम उठाया गया है। यहां की जनता भी भारत का हिस्सा है और भारत माता उनकी भी उतनी है जितनी पूरे देश की है। देश विविधताओं से भरा हुआ है जिस कारण हर आदिवासी समुदाय की अपनी संस्कृति और अपनी पोशाक होती है, हम उन सभी का आदर करते हैं।'

गौरतलब है कि त्रिपुरा की कुल आबादी में 77.8 फीसदी हिस्सा चार प्रमुख आदिवासी समुदायों का है। देबबर्मा, त्रिपुरी, रियांग और चाकमा ये चार आदिवासी समुदाय राज्य के चार प्रमुख समुदाय हैं। इन चार समुदायों को और उनकी संस्कृति को इस नए चित्रण में दर्शाने की कोशिश की गई है। पार्टी नेताओं ने बताया कि 20 की उम्र के आसपास की उन महिलाओं ने जो बीजेपी से जुड़ी हुई हैं या पार्टी को सपोर्ट करती हैं, उन्होंने भारत माता के नए चित्रण के लिए अपनी पारंपरिक पोशाक पहनीं और फिर उनकी तस्वीरें ली गईं। 

देवधर का कहना है, 'अंत में भारत माता का जो चित्रण तैयार किया जाएगा उसमें नॉर्थ-ईस्ट के सभी 300 आदिवासी समुदायों की परंपरा और संस्कृति की झलक होगी।' उन्होंने कहा, 'अधिकतर बीजेपी के कार्यक्रमों में हम भारत माता की, पार्टी के संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की और श्याम प्रसाद मुखर्जी जी की तस्वीरें रखते हैं, लेकिन अब हम इन तस्वीरों के साथ ही पार्टी के कार्यक्रमों में भारत माता के नए रूप की तस्वीर भी रखेंगे।'

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर