comScore

ट्रंप ने फिर दिखाई नरमी, कहा- सही समय पर करूंगा नॉर्थ कोरिया से बात

September 05th, 2018 18:46 IST

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। अमेरिका और नॉर्थ कोरिया की तल्खी के बीच प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप ने अपना रुख थोड़ा नरम किया है। दरअसल नॉर्थ और साउथ कोरिया की मंगलवार को हुई चर्चा के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने बुधवार को फोन पर दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई-इन से बातचीत की।  इस बातचीत में ट्रंप ने कहा कि अमेरिका उत्तर कोरिया से सही समय और सही परिस्थिति में बातचीत के लिए तैयार है। ट्रंप का ये बयान ऐसे समय पर आया है जब नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग के तेवर थोड़े नरम हुए हैं। दो साल बाद किम जोंग ने अपने कट्टर दुश्मन दक्षिण कोरिया से बातचीत की है। मालूम हो कि ट्रंप ने कुछ दिन पहले भी व्हाइट हाउस में पत्रकारों से चर्चा के दौरान नॉर्थ कोरिया से बताचीत के संकेत दिए थे।

किम जोंग से बैठक के लिए सही समय का इंतजार

ट्रंप और मून की बातचीत के बाद व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया  कि मून ने ट्रंप को वार्ता को संभव बनाने में नेतृत्व के लिए धन्यवाद दिया। मून ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रयासों के लिए उनका आभार जताया। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि अंतर-कोरियाई वार्ता को वास्तविकता में बदलने में राष्ट्रपति ट्रंप की भूमिका बहुत बड़ी है। मैं उनका आभार जताना चाहता हूं। दूसरी तरफ से दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून-जे-इन ने कहा कि वो भी किम जोंग से बैठक के लिए सही समय का इंतजार है।

तनाव के बीच मिले नार्थ और साउथ कोरिया

गौरतलब है कि कोरियाई प्रायद्वीप में जारी तनाव के बीच मंगलवार को 2 साल बाद नॉर्थ और साउथ कोरिया के बीच बातचीत हुई थी। दोनों देशों के बीच यह बातचीत कोरियाई प्रायद्वीप को विभाजित करने वाले पनमुनजोम में हुई थी। इस दौरान नॉर्थ कोरिया की ओर से एक समूह सैन्य सीमांकन रेखा पर चलकर साउथ कोरिया स्थित पीस हाउस परिसर पहुंचा था। साउथ कोरिया के एकीकरण मंत्री चो म्योंग ग्यों और नॉर्थ कोरिया के मुख्य प्रतिनिधि री सोन ग्वोन ने ‘पीस हाउस’ में प्रवेश पर और बातचीत के बाद एक दूसरे से हाथ मिलाया था। इस आधिकारिक बातचीत में साउथ कोरिया में होने वाले विंटर ओलंपिक के लिए नॉर्थ कोरिया ने अपने एथलीट और एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भेजने का प्रस्ताव रखा है। वहीं साउथ कोरिया ने खेलों के आयोजन के दौरान ही उन परिवारों के पुनर्मिलन की अपील की है जो 1950-53 कोरियाई युद्ध के कारण अलग हो गए थे।

कैम्प डेविड में भी ट्रंप ने दिखाई थी नरमी

वहीं 6 जनवरी को अमेरिका के प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप के एक बयान ने सबको हैरत में डाल दिया था। एक दूसरे पर परमाणू हमले की धमकी के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने कैम्प डेविड में मीडिया से बातचीत के दौरान  कहा था कि नॉर्थ कोरिया के लीडर किम जोंग उन से वह फोन पर बात करने को 'बिल्कुल' तैयार हैं। उन्होंने उम्मीद जताई थी कि नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया के बीच होने जा रही बातचीत का कुछ सकारात्मक नतीजा निकलेगा। 

कमेंट करें