comScore

चोरी के पैसों से करते थे ऐश, नशेड़ी चोरों पुलिस ने दबोचा

चोरी के पैसों से करते थे ऐश, नशेड़ी चोरों पुलिस ने दबोचा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गांजा व शराब के शौक ने दो दोस्तों को शातिर चोर बना दिया। पुलिस ने दोनों दोस्तों को वाहन, मोबाइल चोरी करने व सेंधमारी के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपियों के नाम मेहबूब बाबा  उर्फ यूसुफ शेख (42) और विशाल शंकर फूलमाली (35) है। पुलिस ने इन दोनों आरोपियों से 5 दोपहिया वाहन, 7 मोबाइल फोन व सेंधमारी के कई मामले उजागर कर दोनों आरोपियों से करीब 2 लाख 14 हजार रुपए का माल जब्त किया है।

इमामवाड़ा थाने में आयोजित पत्र परिषद में पुलिस उपायुक्त राजतिलक रोशन ने बताया क आरोपी मेहबूब बाबा उर्फ यूसूफ शेख पर 12 और विशाल फुलमाली पर 34 मामले दर्ज हैं। दोनों आरोपी पुराने दोस्त हैं। मेहबूब बाबा के गांजा व शराब की आदत के कारण उसकी पत्नी उसे छोड़कर चली गई। वह शादी करने के बाद कोई काम नहीं करता था। वह अपना शौक पूरा करने के लिए चोरियां करता था। उसकी पत्नी को उसकी करतूतों के बारे में पता चला तो वह उसे छोड़कर चली गई। तब मेहबूब ने अपने जिगरी दोस्त विशाल के साथ मिलकर चोरियां करने लगा। विशाल को भी वही शौक हैं, जो मेहबूब को हैं। दोनों दोस्त एक बार चोरी करने के बाद तब तक दूसरी चोरी नहीं करते थे जब तक उनके पास के पैसे खत्म नहीं हो जाते थे।

कर रहे थे चोरी की रकम से ऐश 

पुलिस सूत्रों के अनुसार प्रशांत रहाटे ने करीब ढाई माह पहले इमामवाड़ा थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि मेडिकल चौक स्थित एसएमई वाइन शॉप में कूलर डक्टिंग के अंदर से घुसकर अज्ञात चोर दुकान के काउंटर में रखे नगदी 65 हजार रुपए चुरा ले गया। प्रशांत की शिकायत पर  इमामवाड़ा पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज किया। इस मामले की छानबीन के दौरान पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि आरोपी मेहबूब और विशाल ने वाइन शॉप में चोरी की है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को धरदबोचा। पुलिस ने दोनों आरोपियों से चार मोटरसाइकिलें और एक एक्टिवा, 7 मोबाइल फोन  व नकदी 1500 रुपए जब्त किया।

उपायुक्त राजतिलक रोशन ने बताया कि गत 20 अप्रैल को दोनों आरोपियों ने मेडिकल चौक के समीप एमएमई वाइन शाप के कूलर के डक्टिंग में से हाथ डालकर नकदी 65000 रुपए चुरा लिए। उसके बाद दोनों ने उस रकम पर जमकर ऐश कर रहे थे। इस बारे में इमामवाड़ा पुलिस को सूचना मिलने पर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों की धरपकड़ में सहायक पुलिस आयुक्त धोपांवकर, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक एमएम सालुंके, पुलिस उपनिरीक्षक एन ए पटबडकर, हवलदार अनंतबुरडे, शरद चव्हाण, नायब सिपाही बाबू गिरि व सिपाही किशोर ने अहम भूमिका निभाई।
 

कमेंट करें
kT7Hw