comScore

बीजेपी के आला नेताओं के विरोध में बातचीत पड़ी महंगी, शहर उपाध्यक्ष समेत दो निलंबित

बीजेपी के आला नेताओं के विरोध में बातचीत पड़ी महंगी, शहर उपाध्यक्ष समेत दो निलंबित

डिजिटल डेस्क,  नागपुर। चुनाव के दौरान नेताओं के बारे में फोन पर बातचीत दो पदाधिकारियों को महंगी पड़ी। अपशब्द व पार्टी अनुशासन के उल्लंघन के आरोप में दोनों को निलंबित कर दिया गया है। पदाधिकारियों में भाजपा के शहर उपाध्यक्ष जय हरि सिंह ठाकुर व अभय तिड़के शामिल है। जयहरिसिंह पश्चिम नागपुर विधानसभा क्षेत्र में संजय गांधी निराधार योजना के अध्यक्ष भी है। तिड़के सदस्य हैं। दोनों को पद से हटाने की सिफारिश पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले से की गई है। जयहरिसिंह व तिड़के के बीच फोन पर बातचीत की आडियो रिकार्डिंग बीते कुछ समय से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। दोनों पदाधिकारी स्थानीय नेताओं के बारे में बात कर रहे हैं। एक का कहना है कि नागपुर लोकसभा में भाजपा उम्मीदवार केवल िहंदी भाषियों के भरोसे जीत रहा है। दूसरा कहता है कि उम्मीदवार ने दलित व मुस्लिम जनप्रतिनिधियों के बारे में अशोभनीय बातें कही है। चुनाव के दौरान बूथ स्तर पर रुपयों के चलन की भी बात कही गई है। कांग्रेस के एक नेता के बारे में दावा किया जा रहा है कि वह भाजपा की टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ेगा। बातचीत के संंबंध में शहर भाजपा की ओर से पहले जांच की। बाद में दोनों को पार्टी से निलंबित कर दिया गया । भाजपा के शहर अध्यक्ष सुधाकर कोहले ने कहा है कि वीडियो रिकार्डिंग में साफ है कि संबंधित पदाधिकारियों ने पार्टी अनुशासन का उल्लंघन किया है। लिहाजा उन्हें निलंबित किया गया है। 

मिलती रही है शिकायत

भाजपा शहर उपाध्यक्ष जयहरिसिंह के बारे में बताया जा रहा है कि पहले भी उनके विरोध में शिकायत मिलती रही है। पार्टी में वे स्वयं को राजनाथसिंह के करीबी बताते रहे हैं। कामठी मार्ग पर एक अस्पताल से जुड़े रहे हैं। मनपा चुनाव में भी टिकट नहीं मिलने पर नाराजगी व्यक्त करते रहे। संजय गांधी निराधार योजना का पश्चिम नागपुर अध्यक्ष बनाने के लिए लाबिंग करते रहे। पश्चिम नागपुर के विधायक के अलावा अन्य कुछ विधायकों के बारे में खुलकर विरोध करते रहे हैं। शिवसेना के कुछ पदाधिकारियों से उनके पहले से ही अच्छे संबंध है। 
 

कमेंट करें
RUMun