comScore

नशीली दवाओं के साथ दो युवक गिरफ्तार

नशीली दवाओं के साथ दो युवक गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, शहडोल। जिले में नशीली दवाइयों का कारोबार तेजी से फैल रहा है। कोतवाली पुलिस ने गुरुवार को दो युवकों को नशीली दवाओं के साथ गिरफ्तार किया है। इनके पास से जब्त की गई सभी दवाइयां प्रतिबंधित हैं। इनमें से एक एनेस्थीसिया का इंजेक्शन है, जिसका इस्तेमाल बेहोशी के लिए किया जाता है। इसकी डोज ज्यादा होने पर इंसान की मौत भी हो सकती है।

घेराबंदी कर  दबोचा

पुलिस के मुताबिक गुरुवार को मुखबिर से सूचना मिली कि बुढ़ार की तरफ से दो युवक नशीली दवाइयां लेकर आ रहे हैं। पुलिस ने घेराबंदी कर  बगिया तिराहे के पास दोनों को दबोच लिया। पूछताछ में आरोपियों ने अपना नाम आदित्य तिवारी उर्फ बेटू (26) पुत्र शारदा तिवारी निवासी पांडवनगर और प्रमोद तिवारी पुत्र बिन्दू प्रसाद तिवारी (37) निवासी वार्ड 4 सोहागपुर बताया है। उनके पास से काफी मात्रा में नशीली दवाइयां, इंजेक्शन, डिस्पोजल आदि बरामद किया गया है। दोनों पर ड्रग कंट्रोल एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है। दोनों के खिलाफ पहले भी थाने में कई प्रकरण दर्ज हैं। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है। इधर कार्रवाई में शामिल रहे एएसआई दिलीप सिंह, रजनीश तिवारी और प्रधान आरक्षक महिपाल नामदेव को पुलिस अधीक्षक ने पुरस्कृत करने की घोषणा की है। 

जमुई से मिली थी सप्लाई 

नशे के इस कारोबार में शहडोल और बुढ़ार के व्यापारियों के संलिप्त होने की सूचना है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि जमुई में उन्हें दवाइयों की सप्लाई मिली थी, जिसे लेकर वे शहडोल आ रहे थे। ये दवाइयां कहां से लाई गई थी और किसके माध्यम से सप्लाई कराई गईं। इसके स्रोत और गिरोह के अन्य लोगों के बारे में गहनता से पूछताछ की जा रही है।  

आरोपियों से जब्त इंजेक्शन 

नशीली दवाओं के साथ दो इंजेक्शन भी जब्त किए गए हैं बुप्रोनारफीन और प्रोमिथाजीन। सीएमएचओ डॉ. राजेश पांडेय ने बताया कि बुप्रोनारफीन इंजेक्शन बेहोशी के काम में आता है। यह हॉस्पिटल सप्लाई की दवा है। डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन पर भी मेडिकल स्टोर में नहीं दी जा सकती है। इसी तरह प्रोमिथाजीन खासी और उल्टी की दवा है। यह फिनारगन के नाम से बिकती है और कोरेक्स सिरप की श्रेणी में आती है। इस दवा का इस्तेमाल उल्टी और खांसी के लिए किया जाता है। 
 

कमेंट करें
EJhUy