comScore

नीरव मोदी पर कसेगा शिकंजा, यूके की कोर्ट ने जारी किया गिरफ्तारी वारंट

March 19th, 2019 13:59 IST

डिजिटल डेस्क, लंदन। यूके की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने फरार आर्थिक भगोड़े नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। नीरव मोदी के ब्रिटेन स्थित निवास के पते पर ये वारंट परोसा जाएगा। यह एक प्रक्रिया है जिसका औपचारिक प्रत्यर्पण शुरू होने से पहले पालन किया जाता है। बता दें कि नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल में 13,700 करोड़ रुपये से ज्यादा का फ्रॉड करने का आरोप है। हाल ही में उसे लंदन की सड़कों पर घूमते हुए देखा गया था जिसके बाद ये कार्रवाई की गई है।

प्रवर्तन निदेशालय (ED) के सूत्र बताते हैं कि नीरव मोदी की लंदन में मौजूदगी की जानकारी के बाद भारत ने यूके से मोदी के प्रत्यर्पण का अनुरोध किया था। विदेश मंत्रालय के मुताबिक पिछले साल अगस्त में ये अनुरोध किया गया था। इसी के बाद यूके के अधिकारियों ने नीरव मोदी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही शुरू की। सूत्रों ने कहा कि ब्रिटेन के गृह सचिव साजिद जाविद ने आधिकारिक तौर पर प्रवर्तन निदेशालय को ये जानकारी दी कि प्रत्यर्पण के मामले को लंदन की अदालत में आगे बढ़ा दिया गया है। सूत्रों ने कहा कि इस कदम से नीरव को भारत लाने की प्रक्रिया शूरू हो गई है।

उन्होंने कहा, जल्द ही ED और CBI की एक जॉइंट टीम ब्रिटेन के लिए रवाना होगी। ये टीम वकीलों को नीरव मोदी से जुड़े सबूतों के बारे में अवगत कराएगी जिस तरह उन्होंने भारत के एक और भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के मामले में किया था। मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि 48 वर्षीय मोदी वर्तमान में लैंडमार्क सेंटर प्वाइंट टॉवर ब्लॉक के आधे हिस्से में एक तीन बेडरूम के फ्लैट में रहता है, जहां का किराया प्रति माह 17,000 पाउंड के करीब है।

लंदन की सड़कों पर घूमते हुए देखे जाने के बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि हम नीरव मोदी के प्रत्यर्पण को लेकर कार्यवाही कर रहे हैं। लंदन में वह दिख गया, इसका यह मतलब नहीं है कि हम उसको तुरंत भारत ले आएंगे। इसके लिए एक प्रक्रिया होती है, जो हम कर रहे हैं।

बता दें कि ED और CBI मुंबई में पीएनबी की ब्रैडी हाउस ब्रांच में हुए 13700 करोड़ रुपए से ज्यादा के घोटाले की जांच कर रही है। इस घोटाले को अंजाम देने का आरोप हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उसके रिश्तेदार मेहुल चोकसी पर है। दोनों ही घोटाले को अंजाम देने के बाद देश से फरार हो गए थे।

कमेंट करें
MREno