comScore

 छत्तीसगढ़ से आकर उमरिया में खिला रहे थे क्रिकेट सट्टा

 छत्तीसगढ़ से आकर उमरिया में खिला रहे थे क्रिकेट सट्टा

डिजिटल डेस्क, उमरिया। छत्तीसगढ़ से आकर यहां बिरसिंहपुरपाली में किक्रेट सट्टा खिलाने वाले दो युवकों को पुलिस ने पिछली रात गिरफ्तर किया है। रेलवे स्टेशन पर छिपकर ये दोनों फोन से लोगों के दांव लगाते थे। फिर हार जीत के बाद बकायदा उतारा करते थे। मुखबिर की सूचना पर पुलिस को इसकी भनक लगी। दबे पांव घेराबंदी करते हुए आरोपियों को रंगे हाथ धरदबोचा गया। कार्रवाई में 2 लाख 72 हजार 5 सौ रुपए के दांव मैच में लगाया जाना पाया गया है। पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर सट्टा एक्ट के तहत कायमी की है।

पाली टीआई राकेशचंद मिश्रा ने बताया नगर में लंबे समय से आईपीएल 20-20 क्रिकेट प्रतिस्पर्धा के दौरान ऑनलाईन सट्टा की सूचना मिल रही थी। गुरुवार को मुखबिरी के आधार पर रात 2.35 बजे घेराबंदी कर रेलवे स्टेशन समीप दबिश दी गई। इस दौरान रेलवे प्लेटफार्म क्रमांक दो में जिमि सीतपाल पिता सुरेश सीतपाल (29) चालक मुरलीधर उर्फ सोनू पिता स्व. गोविदंराम माधवानी (38) निवासी वार्ड क्रमांक 10 पाली मैच की गेंद पर हार जीत का दांव लगाते पाए गए। सट्टा की पुष्टि होने पर पुलिस ने उनकी तलाशी शुरु की। जिमि के पास एक पेज में मैच के दौरान 2.72 लाख 500 रुपए का सट्टा लिखा चार्ट मिला। 27 सौ रुपए नकद, 7 मोबाइल व हेडफोन भी पाया गया। मौके पर धारा 41(क) जाफौ. के तहत कायमी कर विवेचना में लिया गया। कार्रवाई में पाली एसडीओपी अरविंद तिवारी, टीआई राजेश चंद मिश्रा सहित थाना स्टॉफ ने अहम भूमिका निभाई।

हर गेंद, ओवर पर लगते हैं दांव
हिरासत में लिए गए दोनों आरोपी पाली के ही निवासी बताए गए हैं। ये लोग छत्तीसगढ़ से रात में आकर पाली में दांव लगाते थे। चूंकि नगर में इन दिनों पुलिस इन पर कड़ी नजर बनाए हुई थी। इसलिए ये लोग छत्तीसगढ़ से उमरिया, शहडोल के क्षेत्रों में लोकेशन बदलकर सट्टा खिलाते थे। यह पूरा अवैध कारोबार मोबाइल के माध्यम से चलता था। हर ओवर, हर गेंद में बनने वाले रन के नाम पर रेट फिक्स किए जाते थे। इस बात का खुलासा आरोपियों के पास पाए गए चार्ट में हुआ। मैच होने के बाद सभी का लेनदेन एजेंटों के माध्यम से होता था।

मोबाइल खोल सकता है राज
आईपीएल क्रिकेट मैच में मोबाइल के माध्यम से सट्टा कोई नई बात नहीं है। इसके पहले पाली में ही एक साल पहले कुछ लोग पकड़े गए थे। यही नहीं गत वर्ष उमरिया की एक होटल में भी आईपीएल के मैचों में हार जीत के दांव लग रहे थे। इस कार्रवाई में कटनी के एक नाम सटोरिया का काम मास्टर माइण्ड के रूप में सामने आया था। तब से हुई कार्रवाई के बाद सटोरिया अलर्ट हो गए, लेकिन अभी भी पाली से लेकर उमरिया व अन्य क्षेत्रों में इनके एजेंट मोबाइल से गेम खिला रहे हैं। जिले में आईपीएल के दौरान सट्टा कारोबारियों पर यह पहली कार्रवाई है। सूत्र बताते हैं यदि जब्त मोबाइल का यदि बारीकी से विश्लेषण हुआ तो अच्छे-अच्छे सफेदपोश लोग इस अवैध कारोबार में संलिप्त पाए जाएंगे। 

इनका कहना है
पाली में एक मुख्य सटोरिया व दूसरा उसका चालक पकड़ा गया है। ये लोग छत्तीसगढ़ से आकर सट्टा खिलाते थे। आरोपियों के पास से  2.72 लाख 500 रुपए के सट्टा चार्ट, मोबाइल व नकदी बरामद हुई हुई है।
सचिन शर्मा, पुलिस अधीक्षक उमरिया

कमेंट करें
23nDV