comScore

धर्मसेना ने मानी गलती, कहा- ओवर थ्रो पर 6 रन देने का फैसला गलत, पर अफसोस नहीं

धर्मसेना ने मानी गलती, कहा- ओवर थ्रो पर 6 रन देने का फैसला गलत, पर अफसोस नहीं

हाईलाइट

  • अंपायर धर्मसेना ने गुप्टिल के ओवर थ्रो पर 6 रन देना माना गलत, कहा नहीं है कोई अफसोस
  • वर्ल्ड कप फाइनल में अंपायर धर्मसेना ने दिए थे इंग्लैंड को ओवर थ्रो पर 6 रन, नियमानुसार 5 रन दिए जाने चाहिए थे
  • आईसीसी के पूर्व अंपायर साइमन टॉफेल ने पहले ही फैसले को बताया था गलत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अंपायर कुमार धर्मसेना ने रविवार को यह स्वीकार किया कि वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में इंग्लैंड को ओवर थ्रो के 6 रन देने का उनका फैसला गलत था। लेकिन, उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें अपने फैसले पर अफसोस नहीं है। कुछ दिन पहले आईसीसी के पूर्व अंपायर साइमन टॉफेल ने भी धर्मसेना के  इस फैसले को गलत बताया था। उनका कहना था कि आईसीसी के नियमों के अनुसार, इस ओवर थ्रो पर इंग्लैंड को 5 रन ही मिलने चाहिए थे। अगर इंग्लैंड को 5 रन मिलते तो मैच का नतीजा कुछ और हो सकता था।

बता दें कि वर्ल्ड कप के फाइनल के 50वें ओवर की चौथी गेंद पर इंग्लैंड के बल्लेबाज बेन स्टोक्स और आदिल रशीद एक रन पूरा कर चुके थे। तब न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल ने थ्रो फेंका और गेंद स्टोक्स के बल्ले से लगकर बाउंड्री तक चली गई। हालांकि, जब थ्रो फेंका गया, तब बल्लेबाज दूसरे रन के लिए एक-दूसरे को क्रॉस नहीं कर पाए थे। टॉफेल के अनुसार ऐसे में इंग्लैंड को 5 रन मिलना चाहिए थे, लेकिन धर्मसेना ने इंग्लैंड को 6 रन दे दिए थे। 

अब इस मुद्दे को लेकर धर्मसेना ने कहा कि टीवी पर रीप्ले देखकर कमेंट करना आसान होता है। हाल ही में मैंने टीवी पर जब रीप्ले देखा, तब मुझे समझ आया कि मुझसे सही फैसला लेने में गलती हुई। हमारे पास मैदान पर कोई टीवी रिप्ले नहीं होता है। मुझे इस फैसले पर कभी अफसोस नहीं रहेगा। बता दें कि वर्ल्ड कप के फाइनल में मैच टाई होने के बाद सुपर ओवर खेला गया था और सुपर ओवर भी टाई रहा था। ऐसे में अधिक बाउंड्री लगाने वाली इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया था।

कमेंट करें
vKjWt