comScore

रफ्तार ने 4 लोगों को सुला दिया मौत की नींद, देवरी के पास हुआ हादसा

रफ्तार ने 4 लोगों को सुला दिया मौत की नींद, देवरी के पास हुआ हादसा

डिजिटल डेस्क, सागर। राष्ट्रीय राजमार्ग- 26 पर देवरी के पास मोड़ पर कार अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी, जिसमें सवार चार लोगों की मौत हो गई तथा शेष दो गंभीर रूप से घायल हो गए। दूल्हा-दुल्हन के लिए सुसज्जित कार शादी के बाद युवक लेकर आ रहे थे। कार चालक समेत सभी युवक शराब के नशे में धुत्त थे।

देवरी से 2 किलोमीटर दूर पुराने बायपास रोड पर स्थित मीरा ढाबा के पास नेशनल हाईवे-26 को जोडऩे वाले मोड़ पर बुधवार की रात्रि में यह हादसा हुआ। जानकारी के अनुसार तेज रफ्तार से आ रही कार अनियंत्रित होकर खाई में जा गिरी। इस दुर्घटना में तीन युवकों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, वहीं इस हादसे में दो युवकों की हालत गंभीर बनी हुई है, जिसमें एक युवक को गंभीर हालत में सागर से भोपाल रेफर किया गया है। वहीं एक अन्य घायल का इलाज सागर के प्राइवेट अस्पताल में चल रहा है।

सागर से देवरी के फूटा मंदिर के पास दशरथ भदौरिया की पुत्री की शादी में शामिल होने ये युवक आए थे। रात्रि में बारात लगने के बाद दूल्हा-दुल्हन के लिए सुसज्जित कार में सवार छह युवक शराब के नशे में कार चलाते हुए नेशनल हाईवे-26 फोरलेन के पास जा रहे थे। तभी मीरा ढाबा के मोड़ पर तेज रफ्तार कार क्रमांक एमपी 15 सीबी 5403 खाई में जा गिरी, जिससे कार के परखच्चे उड़ गए। कार में सवार 6 युवकों में से तीन युवकों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, वहीं एक गंभीर रूप से घायल युवक को इलाज के लिए सागर ले जाते समय रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया है।

दो की हालत गंभीर-
मृत युवकों में जगदीश पिता मन्नालाल जाटव देवरी हाल मुकाम भडऱाना, संजय पिता हीरालाल जाटव भड़राना, अजय पिता आनंदीलाल भडऱाना थाना बंडा के निवासी बताए जा रहे हैं, वहीं गंभीर रूप से सागर इलाज के लिए ले जाते समय सुर्खी के पास अंकित जाटव 14 सदर मुहाल सागर की मौत हो गई। थाना प्रभारी आरएस ठाकुर ने बताया कि हादसे में कार चकनाचूर हो चुकी है तथा कार में सवार 6 युवकों में तीन युवकों की लाश कार के बाहर पड़ी थी और तीन युवक गंभीर रूप से घायल पड़े हुए थे।

तीनों को 108 एंबुलेंस से देवरी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद सागर रैफर किया गया, जिसमें एक युवक की सुर्खी के पास मौत हो गई। इस तरह पूरे हादसे में चार युवकों की मौत हो चुकी है, जबकि 2 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है।

मोबाइल वीडियो बनाने में मस्त थी जनता-
उन्होंने बताया कि रात्रि में हादसे के दौरान घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए कोई भी व्यक्ति पुलिस की मदद के लिए नहीं आ रहा था, जबकि लोग अपने मोबाइल से फोटो खींचकर चले जाते रहे। उन्होंने कहा कि ऐसे हादसों के दौरान लोगों को मानवता का परिचय देते हुए पुलिस की मदद करना चाहिए ताकि घायलों की जान बचाई जा सके। उन्होंने बताया कि गंभीर रूप से घायल आकाश पिता गोपाल जाटव को सागर के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं नीलेश जाटव 21 साल 14 सदर मुहाल सागर निवासी को सागर में इलाज के बाद गंभीर हालत में भोपाल रेफर किया गया है।

जानलेवा है मोड़-
मीरा ढाबा के पास नेशनल हाईवे -26 और पुराने बाईपास को जोड़ने वाला मोड़ जानलेवा है, इसके पहले भी दर्जनों लोगों की मौत इसी मोड़ पर हो चुकी है। लोक निर्माण विभाग की लापरवाही के कारण उक्त मोड़ के पास न तो कोई संकेतक लगाया गया है और न ही खाई से बचने के लिए रैलिंग लगाई गई है, जिससे रात्रि में चढ़ाव के दौरान सड़क के आगे वाला हिस्सा दिखाई नहीं देता है और तेज रफ्तार वाहन सीधे खाई में जा गिरते हैं। लोगों ने मांग की है कि जानलेवा बन गए इस मोड़ पर संकेतक लगाए जाएं और रेलिंग भी लगाई जाए ताकि ऐसी दुर्घटनाएं भविष्य में न हों।

कमेंट करें
KqzWl