comScore
Dainik Bhaskar Hindi

MP : GST के विरोध में महिलाओं ने PM मोदी को भेजे सेनेटरी नैपकिन

BhaskarHindi.com | Last Modified - January 10th, 2018 14:27 IST

12.2k
1
1

डिजिटल डेस्क,ग्वालियर।  केंद्र सरकार के सेनेटरी नैपकीन को GST के दायरे में लाने की घोषणा के ऐलान के बाद मध्य प्रदेश में इसका विरोध देखने को मिला है। ग्वालियर में महिलाओं ने सेनेटरी नैपकीन को टैक्स फ्री करने के लिए अनोखा तरीका अपनाया है। महिलाओं ने फैसला लिया है कि वो सभी मिलकर एक हजार नैपकीन और पोस्टकार्ड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भेजेंगी।

 

           


अभियान को लोगों का समर्थन

ग्वालियर के एक ग्रुप ने इस अभियान को 4 जनवरी से शुरु किया है। सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों का इसे समर्थन भी मिल रहा है। ग्रुप से जुड़े एक छात्र का कहना है कि महिलाओं में जागरुकता और महिला सशक्तिकरण के लिए ये अभियान शुरू किया गया है। उनका कहना है कि ये केवल ग्वालियर की महिलाओं की जरुरत नहीं है बल्कि पूरे देश को इस ओर कदम बढ़ाने की आवश्यकता है। सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी ही एकमात्र नेता है जो इसे जीएसटी से निकालकर इसके दाम कम कर सकते हैं।


            women will send sanitary napkins to PM के लिए इमेज परिणाम

 

सेनेटरी नैपकिन पर 12 प्रतिशत है जीएसटी

गौरतलब है कि सेनेटरी नैपकिन को 12 प्रतिशत GST स्लैब में रखा गया है जिससे उसकी कीमत बढ़ गई है। ये जरुरी और आवश्यक सामग्री में आती हैं और इसकी जरुरत महिलाओं को नियमित तौर पर रहती है। अगर ये महंगा हुआ तो महिलाएं इनका उपयोग करना बंद कर देंगी जिसका सीधा असर उनके स्वास्थ्य पर पड़ेगा। महिलाओं का कहना है कि देश के ग्रामीण इलाकों में आज भी महिलाएं पारंपरिक तरीकों का इस्तेमाल करती हैं जिससे वे कई तरह की संक्रामक बीमारियों से ग्रस्त होती हैं।

              sanitary napkins के लिए इमेज परिणाम

3 मार्च तक चलेगा अभियान

ग्रुप से जुड़े छात्र ने बताया कि 4 जनवरी से शुरू हुआ ये अभियान 3 मार्च तक चलेगा। इस दौरान सरकार को करीब 1 हजार सेनेटरी नैपकिन भेजने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि अगर साफ नैपकिन मुफ्त में उपलब्ध कराए जाते हैं तो महिलाएं  स्वस्थ रह सकती हैं। अब देखने वाली बात होगी कि सेनेटरी नैपकिन को लेकर कई जगहों से विरोध प्रदर्शन की खबरें आई है, लेकिन मध्य प्रदेश के ग्वालियर में महिलाओं के इस अनोखे विरोध प्रदर्शन का सरकार पर क्या असर पड़ेगा। नैपकिन की कीमतों में कटौती होगी या फिर उस पर 12 प्रतिशत टैक्स लगता रहेगा।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download