comScore
Dainik Bhaskar Hindi

राम राजा मंदिर, रात्रि में पवनपुत्र 'श्रीराम' को यहां से ले जाते हैं अयाेध्या

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 14th, 2017 07:39 IST

9.6k
0
0

डिजिटल डेस्क, ओरछा। वैसे तो भगवान राम की पूजा हर जगह की जाती है। उनके मंदिर और मूर्तियां भी विराजमान हैं, लेकिन यह स्थान सबसे अलग है। यहां भगवान राम को ही राजा माना जाता है। राजा के समान ही उनकी पूजन अर्चन होता है। विशेष अवसरों पर आयोजित उत्सवों का दृश्य इस प्रकार होता है मानों किसी का राजतिलक हो रहा है। जी हां, हम बात कर रहे हैं ओरछा की, बुंदेलखंड का ये स्थान राजा राम के नाम से ही दुनियाभर में फेमस है। यहां भगवान राम का महल भी बना हुआ है। ओरछा मध्य प्रदेश में बेतवा नदी के तट पर 16 वीं शताब्दी का एक शहर है। यह अपने अलंकृत महलों, मंदिरों और स्मारकों के लिए जाना जाता है।

पीड़ा हरने में देर नही करते

बुंदेलखंड का एक बेहद खुबसूरत स्थान ओरछा में भगवान राम को राम राजा कहा जाता है। इस स्थान के सभी लोग श्रीराम को अपने काफी करीब मानते हैं उनका मानना है कि उनके सभी दुखों को देखने वाले वे स्वयं हैं। बस उनके समक्ष जाने की देर है। न्याय करने और पीड़ा हरने में वे तनिक भी देरी नही करते।

पवनपुत्र हनुमान अयोध्या ले जाते हैं

यह ऐसा क्यों, इस संबंध में माना जाता है कि राजा मधुकर को भगवान राम ने स्वप्न में दर्शन देकर एक मंदिर बनवाने के लिए कहा। ऐसी भी मान्यता है कि श्रीराम दिन के समय में ओरछा में निवास करते हैं और रात्रि होते भगवान श्रीराम को पवनपुत्र हनुमान अयोध्या ले जाते हैं। यह धारणा सदियों पुरानी है। इसलिए यहां रात्रि के वक्त आरती श्रीराम को अयोध्या भेजने के लिए ही की जाती है। यह स्थान अति अद्भुत है। 

अाेरछा के महल आैर मंदिर 

यहां राजाराम मंदिर, जहांगीर महल, राज महल, लक्ष्मीनारायण मंदिर, फूलबाग,चतुर्भुज मंदिर, सुंदर महल लोकप्रिय और लोगों की पहली पसंद में शामिल हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर