comScore
Dainik Bhaskar Hindi

योगी सरकार ने केजरीवाल के आवेदन को ठुकराया, जेल में चंद्रशेखर रावण से मिलना चाहते थे

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 10th, 2018 19:00 IST

2.1k
0
0
योगी सरकार ने केजरीवाल के आवेदन को ठुकराया, जेल में चंद्रशेखर रावण से मिलना चाहते थे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। योगी सरकार ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के उस आवेदन को ठुकरा दिया है जिसमें उन्होंने जेल में बंद भीम आर्मी के नेता चंद्रशेखर रावण से मिलने की इजाजत मांगी थी। उत्तर प्रदेश सरकार ने कानून-व्यवस्था का हवाला देते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री की मांग ठुकराई है। केजरीवाल ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। बता दें कि चंद्रशेखर सहारनपुर जेल में रासुका की धाराओं में बंद हैं।

आवेदन के अनुसार केजरीवाल 13 अगस्त को सहारनपुर जेल में रावण से मिलना चाहते थे। स्थानीय प्रशासन का कहना है कि चंद्रशेखर और केजरीवाल के बीच राजनीतिक चर्चा हो सकती है और इससे माहौल बिगड़ सकता है। सहारनपुर प्रशासन ने इस बारे में पुलिस अधीक्षक से भी रिपोर्ट ली है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 13 अगस्त को केजरीवाल के सहारनपुर के प्रस्तावित दौरे के समय दलित और राजपूतों में संघर्ष हो सकता है। 

रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि जेल मैन्युअल के मुताबिक चंद्रशेखर से उनके परिवार का ही कोई सदस्य मिल सकता है। वहीं अगर इस मुलाकात के बाद केजरीवाल मीडिया में बयान देते है, जो कि संभावित है उससे भी जेल मैन्युअल का उल्लंघन होगा।

इजाजत न मिलने के बाद केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा, चंद्रशेखर रावण, दलितों के संघर्षशील नेता, को UP की भाजपा सरकार ने राजनैतिक द्वेष के कारण काफ़ी समय से जेल में रखा हुआ है। मैं उनसे मिलने जाना चाहता था लेकिन ये अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है की योगी सरकार ने मुझे इजाज़त नहीं दी।

गौरतलब है कि सहारनपुर जातीय हिंसा से जुड़े सभी मामलों में पिछले साल 2 नवंबर को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने चंद्रशेखर को जमानत दे दी थी। चंद्रशेखर को इस जातीय हिंसा का मुख्य आरोपी बनाया गया था मगर जमानत मिलते ही उन्हें रासुका के तहत बंद कर लिया गया।   

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर