comScore

US OPEN 2019: सेरेना 10वीं बार टूर्नामेंट के फाइनल में, 19 साल की बियांसा से होगी खिताबी भिड़ंत

US OPEN 2019: सेरेना 10वीं बार टूर्नामेंट के फाइनल में, 19 साल की बियांसा से होगी खिताबी भिड़ंत

हाईलाइट

  • सेरेना 10वीं बार यूएस ओपन के फाइनल में पहुंची, सेमीफाइनल में स्वितोलिना को 6-3, 6-1 से हराया
  • सेरेना का फाइनल में मुकाबला कनाडा की बियांसा एंद्रेस्कू से होगा
  • सेरेना 33वीं बार ग्रैंड स्लेम टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची हैं

डिजिटल डेस्क। अमेरिका की स्टार टेनिस खिलाड़ी सेरेना विलियम्स गुरुवार को साल के चौथे ग्रैंड स्लेम टूर्नामेंट यूएस ओपन के फाइनल में पहुंच गई हैं। सेरेना 10वीं बार यूएस ओपन के फाइनल में पहुंची हैं। इसके अलावा उन्होंने 33वीं बार ग्रैंड स्लेम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई है। 23 बार ग्रैंड स्लैम का खिताब जीत चुकीं सेरेना ने विमेंस सिंगल्स के सेमीफाइनल मुकाबले में उक्रेन की एलिना स्वितोलिना को 6-3, 6-1 से मात देकर फाइनल में अपनी जगह पक्की की है। सेरेना की यूएस ओपन में यह 101वीं जीत है। इस जीत के साथ ही उन्होंने इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा मैच जीतने वाली क्रिस एवर्ट की बराबरी कर ली। 

सेरेना का फाइनल में मुकाबला कनाडा की बियांसा एंद्रेस्कू से होगा। 19 साल की बियांसा ने दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में स्विट्जरलैंड की बेलिंडा बेनिसिच को 7-6 (7-3), 7-5 से मात देकर फाइनल में प्रवेश किया है। अब बियांसा सेरेना को फाइनल में मात देकर ग्रैंड स्लैम जीतने वाली कनाडा की पहली खिलाड़ी बनना चाहेंगी। एंद्रेस्कू पहली बार किसी ग्रेंड स्लेम फाइनल में पहुंची हैं। 
 
सेरेना अब तक  23 ग्रैंड स्लेम खिताब जीत चुकी हैं और वह अब ऑस्ट्रेलिया की मार्गेट कोर्ट के 24 खिताब की बराबरी से एक कदम दूर हैं। सेरेना ने पिछली बार ऑस्ट्रेलियन ओपन का ग्रेंड स्लेम खिताब जीता था। वहीं यूएस ओपन की बात करें तो उन्होंने आखिरी बार इस टूर्नामेंट का खिताब 2014 में जीता था। तब से अब तक वह इस टूर्नामेंट का खिताब नहीं पाईं हैं। 

सेरेना ने 1998 में पहली बार यूएस ओपन खेला था। इसके बाद 1999 में ही उन्होंने टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया था। फिर वह 2002, 2008, 2012, 2013 और 2014 में टूर्नामेंट की चैंपियन रहीं। पिछले साल जापान की नाओमी ओसाका ने टूर्नामेंट के फाइनल में सेरेना को मात देकर खिताब जीता था। सेरेना इस साल विम्बलडन ओपन के फाइनल में सिमोना हालेप से हार गई थीं। 

सेरेना ने स्वितोलिना के खिलाफ सेमीफाइनल जीतने के बाद कहा, ‘यह बेहतरीन मैच था। मैं समर्थकों के बिना यह मैच नहीं जीत सकती थी। आप लोग 20 साल से यहां हैं और मैं अभी भी यहीं हूं। मुझे पता है कि स्वितोलिना कैसा खेल सकती हैं, वे बेहतरीन खिलाड़ी हैं। लगातार दो सेमीफाइनल खेलना मुश्किल होता है। इसलिए उनके खिलाफ मैं इस मैच में मजबूत शुरुआत करना चाहती थी।

कमेंट करें
wdLyz