comScore
Dainik Bhaskar Hindi

अमेरिकी मेजर ने ISIS को दी चेतावनी, कहा- सरेंडर कर दो वरना मार दिए जाओगे

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 25th, 2018 18:08 IST

792
0
1
अमेरिकी मेजर ने ISIS को दी चेतावनी, कहा- सरेंडर कर दो वरना मार दिए जाओगे

डिजिटल डेस्क, वाशिंगटन। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) इन दिनों दुनियाभर के लिए एक बड़ा खतरा बना हुआ है। इसको लेकर अमेरिकी सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने ISIS संगठन को सरेंडर करने के लिए धमकी दी है। अधिकारी ने धमकी भरे शब्दों में कहा है कि सरेंडर कर दो वरना मार दिए जाओगे। कमांड सार्जेंट मेजर जॉन ट्रोकसेल ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर करते हुए धमकी दी है।

ट्रोकसेल ने पोस्ट करते हुए कहा है कि अगर इस्लामिक स्टेट समूह के जिहादी आत्मसमर्पण नहीं करते हैं तो अमेरिका एवं उसके सहयोगी देशों की सेना आतंकवादियों को गोली मार देगी या उनपर बम गिरा देगी। अधिकारी ने आईएस के सदस्यों को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर वह आत्मसमर्पण नहीं करते हैं तो उन्हें मार दिया जाएगा। उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि अगर वह आत्मसमर्पण करते हैं तो उन्हें जेल में सुरक्षित रखेंगे और उन्हें खाना, चारपाई देंगे और उचित प्रक्रिया का पालन करेंगे।

चेहरे पर गोली मारेंगे
आतंकियों के खिलाफ कड़ी चेतावनी देते हुए ट्रोकसेल ने कहा कि अगर वह आत्मसमर्पण नहीं करते हैं तो हम उन्हें सुरक्षा बलों द्वारा मरवा देंगे, उनपर बम गिराएंगे, उन्हें चेहरे पर गोली मार देंगे, या फावड़े से मार-मार कर उनकी हत्या कर देंगे। पोस्ट में अमेरिकी सैनिक की फोटो भी है जो फावड़ा पकड़ा हुआ है और किसी को संदेह है कि किसी व्यक्ति की फावड़े से कैसे हत्या की जा सकती है तो ट्रोकसेल ने बुधवार को एक डायग्राम पोस्ट करके इसे समझाया भी है।

गौरतलब है कि अमेरिका के ट्रंप प्रशासन ने अपने नागरिकों के लिए ट्रैवल एडवायजरी जारी की है जिसमें भारत की यात्रा के दौरान उन्हें सतर्क रहने की सलाह दी गई है। इस एडवायजरी में बताया गया है कि दुनिया के कौन से ऐसे खतरनाक देश हैं, जहां अमेरिकियों का जाना खतरे से कम नहीं है। इस एडवाइजरी में भारत को अमेरिका ने द्वितीय श्रेणी और पाकिस्तान को तृतीय श्रेणी में रखा है। अमेरिका ने अपने नागरिकों को भारत और पाकिस्तान के सरहदी इलाकों से 10 किलोमीटर दूर रहने को कहा है क्योंकि सीमा पर दोनों देशों के बीच तनाव है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर