comScore
Dainik Bhaskar Hindi

संस्थान को पूरा समय न देने वाले विदेशी छात्र को वापस भेजेगा अमेरिका, 10 साल तक एंट्री बैन

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 11th, 2018 12:18 IST

4.6k
1
0
संस्थान को पूरा समय न देने वाले विदेशी छात्र को वापस भेजेगा अमेरिका, 10 साल तक एंट्री बैन

News Highlights

  • अमेरिका ने अपनी विदेशी स्टूडेंट पॉलिसी सख्त कर दी है।
  • नए प्रावधान 9 अगस्त से लागू हो गए हैं।
  • प्रावधान का उल्लंघन करने वाले छात्र और उसके परिजनों को अगले ही दिन अमेरिका छोड़ना होगा।


डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। बाहरी देशों से अमेरिका आकर पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए आने समय काफी मुश्किल भरा हो सकता है। अमेरिका ने अपनी विदेशी स्टूडेंट पॉलिसी सख्त कर दी है। इस पॉलिसी का उल्लंघन करने पर छात्र को वापस उसके देश भेज दिया जाएगा। नियमों का उल्लंघन पर 10 साल तक अमेरिका में एंट्री भी बैन हो सकती है। नए प्रावधान 9 अगस्त से लागू हो गए हैं। प्रावधान का उल्लंघन करने वाले छात्र और उसके परिजनों को अगले ही दिन अमेरिका छोड़ना होगा। ऐसा न करने पर उनकी मौजूदगी गैर कानूनी काम के दायरे में आएगी। नए नियम के मुताबिक वीजा की अवधि खत्म न होने पर भी स्टूडेंट स्टेटस के उल्लंघन पर अमेरिका छोड़ना होगा। पुराने नियमों के मुताबिक पहले दोष साबित होने या अप्रवासी मामलों के जज के आदेश के बाद भी अमेरिका में रहने को अवैध माना जाता था। नए नियम में इस बात का भी उल्लेख किया गया है कि अवैध तरीके से 180 दिन तक रहने पर 10 साल तक अमेरिका में एंट्री बैन की जा सकती है। पढ़ाई पूरी होने के बाद मिलने वाले ग्रेस पीरियड से ज्यादा रुकने या अवैध तरीके से अमेरिका में रहकर नौकरी करने पर भी छात्र के खिलाफ एक्शन लिया जा सकता है।

2017 में 21 हजार भारतीय रहे अवैध तरीके से
अमेरिका के आंतरिक सुरक्षा विभाग की रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि साल 2017 में 21 हजार से ज्यादा भारतीय वीजा अवधि पूरी होने के बाद भी अमेरिका में रुके रहे। पिछले वर्ष भारत से 1,27,435 भारतीय छात्र एम, जे और एफ कैटेगरी के तहत अमेरिका पहुंचे थे। इनमें 4,400 वीजा खत्म होने के बाद भी रुके रहे। अमेरिका में चीन के बाद सबसे ज्यादा भारतीय छात्र ही हैं। 2017 की ओपन डोर रिपोर्ट के मुताबिक भारत के 1.86 लाख छात्र अमेरिका में पढ़ रहे हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर