comScore
Dainik Bhaskar Hindi

UP में योगी की परीक्षा आज, निकाय चुनाव के लिए काउंटिंग जारी

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 01st, 2017 13:15 IST

1.6k
0
0

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तरप्रदेश की राजनीति में शुक्रवार दिन काफी अहम है। इसमें भी सीएम योगी आदित्यनाथ के लिए आज का दिन परीक्षा की तरह है, क्योंकि उत्तर प्रदेश में नगर निकाय चुनाव के नतीजे थोड़ी देर में आने शुरू हो जाएंगे। नगरीय निकाय चुनाव के लिए वोटों की गिनती शुरू हो चुकी है। गुजरात में विधानसभा चुनाव की वोटिंग से पहले ये नतीजे काफी मायने रखते हैं। योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के बाद ये पहले चुनाव हैं, इसलिए इस चुनाव को सीएम योगी की परीक्षा के तौर पर भी देखा जा रहा है। बता दें कि यूपी में नगर निकाय चुनाव के लिए तीन फेस में वोटिंग हुई थी, जिसके आज नतीजे घोषित किए जाने हैं।

नगर निगम चुनाव

सभी 16 शहरों के रुझान

बीजेपी- 13

बीएसपी- 3

एसपी- 0

कांग्रेस- 0

अन्य- 0

झांसी के रुझानों में बदलाव, बीएसपी उम्मीदवार ने बढ़त बनाई। बीएसपी 16 में से 3 सीटों पर आगे चल रही है। झांसी से कांग्रेस से पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन भी मैदान में हैं।

मथुरा में पोस्टल बैलट के नतीजों में कांग्रेस के मेयर पद के उम्मीदवार मोहन सिंह आगे दूसरे नंबर पर बीजेपी के उम्मीदवार मुकेश आर्य। मोहन सिंह को मिले 42 मत और मुकेश आर्य को 25 मत मिले।

बरेली से बीजेपी के उम्मीदवार उमेश गौतम आगे चल रहे हैं।

नगर पालिका अध्यक्ष चुनाव

कुल 198 सीटों में से 11 के रुझान आए

कौन कहां आगे?

बीजेपी- 09

एसपी- 02

बीएसपी- 3

कांग्रेस- 0

अन्य- 0


 

क्यों अहम है नगर निकाय के चुनाव? 

उत्तरप्रदेश नगर निकाय के चुनाव के नतीजे बीजेपी और कांग्रेस दोनों के लिए बहुत अहम है। गुजरात में भी विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग 9 और 14 दिसंबर को होनी है। उससे पहले निकाय चुनाव के नतीजे आना बहुत मायने रखते हैं। बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टी गुजरात में दमखम से लगी हुई हैं। वहीं यूपी विधानसभा चुनाव में करारी हार मिलने के बाद समाजवादी पार्टी के लिए भी ये नतीजे बहुत अगम हैं। इसके साथ ही 17 सालों में पहली बार बसपा भी अपने पार्टी के चिह्न पर चुनाव लड़ रही है। यूपी के सीएम के लिए नगर निकाय चुनाव के नतीजे बहुत अहम हैं, क्योंकि उत्तरप्रदेश की कमान संभालने के बाद ये योगी की ये पहली परीक्षा है।

सपा ने उतारा है ट्रांसजेंडर कैंडिडेट

इसके अलावा समाजवादी पार्टी ने एक ट्रांसजेडर को भी मेयर पद का कैंडिडेट बनाया है। अयोध्या-फैजाबाद नगर निगम से सपा ने ट्रांसजेंडर गुलशन बिंदु को मेयर पद के लिए खड़ा किया है। गुलशन ने हाल ही में सपा ज्वॉइन की थी। गुलशन बिंदु इससे पहले साल 2012 में अयोध्या विधानसभा से चुनाव भी लड़ चुकी हैं। बता दें कि गुलशन का जन्म बिहार के सीतामढ़ी में हुआ था और वो अब 47 साल की हो चुकी हैं। गुलशन की किस्मत का फैसला भी आज दोपहर 12 बजे तक हो जाएगा।

100 साल बाद लखनऊ में महिला मेयर

नवावों का शहर कहे जाने वाले लखनऊ में 100 साल बाद कोई महिला मेयर बनने जा रही है। इसके अलावा और भी कई सीटों में पहली बार महिला को मेयर पद के लिए खड़ा किया गया है। लखनऊ के अलावा पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी पहली बार महिला मेयर बनने जा रह है। इसके साथ ही मथुरा और अयोध्या में भी महिला ही मेयर बनेगी।

तीन फेस में हुई थी वोटिंग

उत्तरप्रदेश की 16 नगर निगमों, 198 नगर पालिकाओं और 498 नगर पंचायतों के लिए वोटिंग तीन फेस में की गई थी। यूपी में इस बार 652 निकायों के 12,007 वार्डों में चुनाव हुए हैं। पहले फेस की वोटिंग 22 नवंबर को हुई थी, जिसमें 25 जिलों के 5 नगर निगम, 71 नगर पालिका और 154 नगर पंचायतें शामिल थीं। इसके बाद 26 नवंबर को हुई दूसरे फेस की वोटिंग में भी 25 जिलों की 6 नगर निगम, 51 नगर पालिका और 132 नगर पंचायतों को शामिल किया था। आखिरी फेस की वोटिंग 29 नवंबर को हुई थी, जिसके तहत 26 जिलों की 5 नगर निगम, 76 नगर पालिका और 152 नगर पंचायत में वोटिंग हुई थी।

एग्जिट पोल में बीजेपी आगे

वोटिंग के बाद एग्जिट पोल में यूपी में एक बार फिर से भगवा छाने की उम्मीद जताई गई है। एबीपी न्यूज के एग्जिट पोल में 16 में से 15 नगर निगम बीजेपी के खाते में जाते दिख रही है। इस सर्वे के मुताबिक, लखनऊ, वाराणसी, झांसी, इलाहाबाद, अयोध्या और कानपुर समेत 15 नगर निगमों में बीजेपी के मेयर आ सकते हैं। यूपी के नगर निकाय चुनावों में बीजेपी को जहां 48% वोट मिलने की बात कही गई है, वहीं सपा को 32%, बसपा को 17% वोट मिल सकते हैं। इसके अलावा कांग्रेस एक बार फिर से बुरी तरह हार सकती है, उसे 2 फीसदी वोट मिलने की बात कही गई है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर