comScore

UP: शामली में जीआरपी ने पत्रकार को पीटा, एसएचओ और कॉन्‍स्‍टेबल सस्‍पेंड

UP: शामली में जीआरपी ने पत्रकार को पीटा, एसएचओ और कॉन्‍स्‍टेबल सस्‍पेंड

हाईलाइट

  • शामली में पटरी से उतरी मालगाड़ी की कवरेज करने पहुंचा था पत्रकार
  • जीआरपी ने पत्रकार को हिरासत में लिया, उसके कपड़े उतारे और मुंह में पेशाब भी किया
  • पिटाई के आरोपी एसएचओ राकेश कुमार और कॉन्‍स्‍टेबल संजय पवार सस्‍पेंड

डिजिटल डेस्क, शामली। उत्तर प्रदेश में पत्रकार को जेल में डालने के बाद अब उसकी पिटाई का मामला सामने आया है। यूपी के शामली में रिपोर्टिंग करने पहुंचे पत्रकार की जीआरपी पुलिस ने बेरहमी से पिटाई कर दी। इतना ही नहीं हिरासत में लेकर उसके साथ अमानवीय कृत्य भी किया। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद जीआरपी एसएचओ और कॉन्स्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है।

दरअसल पत्रकार पटरी से उतरी मालगाड़ी की कवरेज करने पहुंचा था, तभी जीआरपी ने उसकी पिटाई कर दी। पीड़‍ित पत्रकार अमित शर्मा ने बताया, सभी पुलिसकर्मी सादी वर्दी में थे। पहले उन्होंने मारकर कैमरा गिरा दिया। जब वह कैमरा उठाने लगा तो गाली-गलौज करते हुए पत्रकार की पिटाई शुरू कर दी। इतना ही नहीं पिटाई करने के बाद पुलिसकर्मियों ने पत्रकार को हिरासत में ले लिया। हिरासत में पत्रकार के कपड़े उतारे और उसके मुंह में पेशाब भी किया गया। पत्रकार ने मीडियाकर्मियों का माइक छीनने का भी आरोप लगाया है। पिटाई की घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। 

घटना के बाद पिटाई करने के आरोपी जीआरपी एसएचओ राकेश कुमार और कॉन्‍स्‍टेबल संजय पवार को सस्‍पेंड कर दिया गया है। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा, आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सस्पेंड किए गए दोनों पुलिसकर्मियों पर पत्रकार अमित शर्मा के साथ बदसलूकी और अमानवीय कृत्य करने का आरोप है। 

गौरतलब है कि इससे पहले स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया को सीएम योगी के खिलाफ सोशल मीडिया पर विवादित टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार को आदेश दिए थे कि वह तुरंत पत्रकार को रिहा करें। इसके अलावा गिरफ्तारी को लेकर यूपी पुलिस को फटकार भी लगाई थी। 

कमेंट करें
iEUR9