comScore

हैवानियत : पहले पिता की गर्दन काटी, फिर FeviKwik से चिपकाने लगा

February 26th, 2018 10:17 IST
हैवानियत : पहले पिता की गर्दन काटी, फिर FeviKwik से चिपकाने लगा

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बस्ती से एक बेटे की हैवानियत का ऐसा ममला सामने आया है, जिसे सुनकर हर कोई दंग है। दरअसल, एक बेटे ने पहले अपने बुजुर्ग पिता की धारदार हथियार से गर्दन काट दी और फिर उसे फेविक्विक से चिपकाने की कोशिश करने लगा। इतना ही नहीं, पिता की चीख बाहर न जाए, इसके लिए उसने टीवी का साउंड तेज कर दिया। फेविक्विक से भी जब पिता की गर्दन नहीं चिपकी, तो घबराकर वो अपनी पत्नी और बच्चों समेत पिता को उसी हालत में छोड़कर भाग गया। फिलहाल बुजुर्ग पिता को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।


बीमार थे पिता, गुस्से में बेटे ने काट दिया गला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रेलवे से रिटायर्ड रामदेव मिश्रा (65 साल) बस्ती में सोनहा इलाके के दरियापुर जंगल टोला में अपने बेटे जगदीश मिश्र, बहू और दो पोतों के साथ रहते हैं। बताया जा रहा है कि शनिवार को बीमार चल रहे बुजुर्ग पिता ने कमरे में ही टॉयलेट कर दी थी, जिससे बेटे जगदीश को बहुत गुस्सा आया और उसने अपने बुजुर्ग पिता पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। इस हमले में पिता की गर्दन कट गई। इसके बाद पिता को खून से लथपथ देख जगदीश अपने पूरे परिवार को लेकर वहां से भाग गया। बाद में पड़ोसियों की मदद से रामदेव को हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

फेविक्विक से चिपकाने की कोशिश भी की

बताया जा रहा है कि अपने पिता की गर्दन काटने के बाद बेटे ने उनकी गर्दन को फेविक्विक से चिपकाने की कोशिश भी की। जगदीश ने पहले अपने पिता की गर्दन काट दी और उसके बाद फेविक्विक लगाकर उसे जोड़ने की कोशिश करने लगा। जब हैवान बेटा अपने पिता की गर्दन को फेविक्विक से चिपका रहा था, तो रामदेव चीखने लगे। जिसके बाद उसने टीवी का साउंड बढ़ा दिया, जिससे उनकी चीख बाहर न जा सके।

घबराकर पिता को वैसे ही छोड़ भागा

जानकारी के मुताबिक, काफी देर तक जगदीश ने फेविक्विक से अपने पिता की गर्दन जोड़ने की कोशिश की, लेकिन जब उसे लगा कि गर्दन नहीं जुड़ेगी तो वो उन्हें उसी हालत में छोड़कर वहां से भाग गया। अपनी पत्नी और बच्चों के साथ भागने के बाद जगदीश ने कमरा भी बाहर से बंद कर दिया था।

पड़ोसियों की मदद से पहुंचाया हॉस्पिटल

बताया जा रहा है कि रामदेव मिश्रा की चीख-पुकार सुन पड़ोसियों को शक हुआ तो उन्होंने पुलिस और एंबुलेंस को कॉल किया। इसके बाद जब घर का दरवाजा खोला गया, तो सब दंग रह गए। खून से लथपथ रामदेव मिश्रा जमीन पर पड़े हुए थे। इसके बाद लोगों की मदद से उन्हें तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया। बताया जा रहा है कि पुलिस ने मौके से कुल्हाड़ी को जब्त किया है। डॉक्टरों का भी कहना है कि रामदेव के गले पर पहले कुल्हाड़ी जैसे धारदार हथियार से हमला किया गया फिर फेविक्विक से चिपकाने की कोशिश की गई।

आरोपी की तलाश जारी

हॉस्पिटल पहुंचने के बाद पिता रामदेव ने पुलिस को इशारों में अपने साथ हुए हादसे के बारे में जानकारी दी। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी बेटे जगदीश के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल आरोपी की तलाश जारी है। 

कमेंट करें
u2lix