comScore
Dainik Bhaskar Hindi

महाराष्ट्र के समृद्ध आईएएस-आईपीएस में वर्मा नंबर वन, सरकार को दिया संपत्ति का ब्यौरा 

BhaskarHindi.com | Last Modified - March 14th, 2019 21:25 IST

1.1k
0
0
महाराष्ट्र के समृद्ध आईएएस-आईपीएस में वर्मा नंबर वन, सरकार को दिया संपत्ति का ब्यौरा 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव भूषण गगराणी राज्य के सबसे समृद्ध आईएएस अधिकारी हैं जबकि म्हाडा में बतौर अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक तैनात संजय कुमार वर्मा सबसे अधिक संपत्ति वाले आईपीएस अधिकारी हैं। केंद्र सरकार के कार्मिक व प्रशिक्षण विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक राज्य के ज्यादातर प्रशासनिक अधिकारी करोड़पति हैं। जिन अधिकारियों ने संपत्ति से जुड़ी जानकारी नहीं दी है उन पर कार्रवाई के लिए सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखा गया है। दरसअल भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारियों के लिए हर साल अपनी और करीबी रिश्तेदारों की संपत्ति का विवरण देना अनिवार्य है। भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने और कामकाज में पारदर्शिता के लिए ऐसा किया गया है। साल 2018-19 के लिए संपत्ति का विवरण देने की आखिरी तारीख 31 जनवरी थी। ज्यादातर अधिकारियों ने संपत्ति से जुड़ा विवरण दे दिया है। हालांकि अचल संपत्तियों की मौजूदा कीमत अनिवार्य है लेकिन ज्यादातर ने संपत्ति कितने में खरीदी गई है इसकी ही जानकारी दी है। ऐसे में अधिकारियों की वास्तविक संपत्ति को लेकर भ्रम है। जिन अधिकारियों ने संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया है उनकी प्रतिनियुक्ति, अहम पदों पर नियुक्ति, मूल कैडर में वापसी और प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होने पर रोक लग जाएगी।

राज्य के संपन्न आईएएस अधिकारी

1-भूषण गगराणी (कैडर 1990), प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री-कुल संपत्ति 15.97 करोड़
कुल 9 संपत्तियां-मुंबई में 2, नई मुंबई में 1 घर, कोल्हापुर में पैत्रिक घर कुछ संपत्ति खुद के नाम जबकि कुछ में पत्नी, बहन, मां और बच्चे भी मालिक हैं
2-प्रवीण दराडे (कैडर 1998), अतिरिक्त आयुक्त मुंबई-कुल संपत्ति 13.49 करोड़
कुल 15 संपत्तियां-14 भूखंड, 1 व्यावसायिक गाला, दो भूखंड पिता से मिला, सभी संपत्तियां दराडे के नाम हैं
3-प्रवीणसिंह परदेशी (कैडर 1985), अतिरिक्त मुख्य, सचिव मुख्यमंत्री कार्यालय-कुल संपत्ति 12.5 करोड़
कुल 6 संपत्तियां-विदेश में 1, पुणे में 2, मुंबई में 1 घर, मध्यप्रदेश और सोलापुर में 2 भूखंड, कुछ संपत्तियां अपने नाम जबकि कुछ पत्नी के नाम
4-वी राधा (कैडर 1994) , सहसचिव, स्वच्छता मंत्रालय, कुल संपत्ति 11.42 करोड़
कुल 6 संपत्तियां-मुंबई में 2 घर, पुणे, रायगढ, तमिलनाडु में 1-1 घर, पुणे में एक भूखंड, कुछ संपत्तियां खुद के नाम कुछ में पति और देवर हिस्सेदार
5-मनोज सौनिक (कैडर 1987), प्रमुख सचिव, सार्वजनिक निर्माण कार्य, कुल संपत्ति 10.90 करोड़
कुल 6 संपत्तियां-मुंबई, नई मुंबई, हरियाणा में 1-1 घर, पुणे, रायगढ में खेती की जमीन, बिहार में पैतृक संपत्ति, कुछ संपत्तियां अपने कुछ पत्नी के नाम
राज्य के संपन्न आईपीएस अधिकारी
1-संजय कुमार वर्मा (कैडर-1990), अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, कुल संपत्ति-11.65 करोड़
कुल 7 संपत्तियां-पुणे में 4 जबकि मुंबई, नई मुंबई में 1-1 घर, पुणे में जमीन, संपत्तियों का मालिकाना हक खुद, पत्नी और सास के नाम
2-परमबीर सिंह (कैडर-1988) पुलिस महानिदेशक, एसीबी, कुल संपत्ति 11.10 करोड़
कुल 4 संपत्तियां- मुंबई, नई मुंबई में 1-1 घर, हरियाणा में जमीन, चंडीगढ में 1 घर, संपत्तियां खुद पत्नी और भाई के साथ नाम
3-जे वी जाधव (कैडर 2004), कुल संपत्ति 10.95 करोड़ 
कुल 11 संपत्तियां-कोल्हापुर में 1, पुणे में 3 घर और एक फार्महाउस, कोल्हापुर, सांगली, पुणे, में 6 भूखंड, कुछ संपत्तियां खुद के और कुछ में पत्नी, बेटे और साले के साथ सहमालिक
4-दिलीप पाटील भुजबल, पुलिस अधीक्षक बुलढाणा, कुल संपत्ति 10.63 करोड़
कुल 16 संपत्तियां पुणे में 5 घर, 1 गाला, 9 भूखंड, 2 पैतृक संपत्तियां, कुछ संपत्तियां खुद के और कुछ में पत्नी, बेटे और ससुर सहमालिक

5-विनीत अग्रवाल (कैडर 1994), विशेष संचालक, ईडी, कुल संपत्ति 9.10 करोड़ रुपए
कुल 8 संपत्तियां-गाजियाबाद में 4 गाले, 1 भूखंड, नोयडा में 1 भूखंड, 1 घर और पैतृक संपत्ति, कुछ संपत्तियां खुद के नाम कुछ परिवार के सदस्यों के नाम

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download