comScore

बसंत पंचमी 2018 : यहां जानें पूजा का शुभ मुहूर्त अाैर विधि...

September 04th, 2018 19:15 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बसंत पंचमी या वसंत पंचमी जिसे श्री पंचमी भी कहा जाता है पूरे भारत में धूमधाम से मनायी जाती है। इस अवसर पर कई स्थानों पर मेले भी भरे जाते हैं। इस दिन वीणापाणी मां सरस्वती पूजन का विशेष महत्व है। इस वर्ष यह 22 जनवरी 2018 सोमवार को मनायी जाएगी। साेमवार काे होने की वजह से भी इस दिन सरस्वती विष्णु आैर कामदेव के साथ महादेव का पूजन भी शुभ फलदायी होगा।

पीले वस्त्र धारण कर विधि-विधान से पूजा

इस त्योहार का सर्वाधिक उत्साह पूर्वी भारत, पश्चिमोत्तर बांग्लादेश, नेपाल और और कई राज्यों में  विधि-विधान और बेहद उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस दिन महिलाएं पीले वस्त्र धारण करती हैं। मान्यता है कि इस दिन जो भी मनुष्य पूरे मन और विधि से मां सरस्वती का आराधना करता है वे उसकी मनोकामना अवश्य ही पूर्ण करती हैं। विद्या और संगीत की देवी मां सरस्वती की पूजा प्रत्येक स्थान पर की जाती है। 

भगवान विष्णु और कामदेवी की भी पूजा 

इस बसंत ऋतु के आगमन के पांचवे दिन मनाया जाता है। इस दिन भगवान विष्णु और कामदेवी की भी पूजा की जाती है। बसंत के साथ ही फूलों खिलने लगते हैं। हर ओर बसंती की बहार नजर आने लगती है। यह नयी ऋतु के स्वागत का दिन भी माना जाता है। 

पेन, काॅपी, किताबों की भी पूजा

बसंत पंचमी के दिन पेन, काॅपी, किताबों की भी पूजा की जाती है। ऐसा करने से देवी सरस्वती वरदान प्रदान करती हैं। भारत देश के सरस्वती, विष्णु और शिव मंदिरों में इस त्योहार का उत्साह सर्वाधिक होता है। अधिकांश स्थानों पर मेले आयोजित किए जाते हैं, जो मुख्यतः संबंधित देवी-देवता को ही समर्पित होते हैं।
 

देवी सरस्वती पूजा का मुहूर्त 

वसंत पंचमी पूजा मुहूर्त-   07:17 
अवधि - 5 घंटे 15 मिनट

पंचमी तिथि प्रारंभ- 21 जनवरी 2018 रविवार को 15:33 बजे से 
पंचमी तिथि समाप्त- 22 जनवरी 2018  सोमवार को 16:24 बजे तक

कमेंट करें
Survey
आज के मैच
IPL | Match 42 | 24 April 2019 | 08:00 PM
RCB
v
KXIP
M. Chinnaswamy Stadium, Bengaluru