comScore
Dainik Bhaskar Hindi

लक्ष्मी के लिए जपें भगवान विष्णु के ये आसान 'सिद्ध मंत्र'

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 15th, 2017 08:33 IST

7k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। श्रीहरि भगवान विष्णु को प्रसन्न करना अधिक कठिन कार्य नही है, किंतु यदि आप किसी ऐसे मंत्र का जाप करते हैं जो सृष्टि के संचालक को प्रसन्नता प्रदान करता है तो समझिए आपके सभी अधूरे कार्य शीघ्र ही पूर्ण हो जाएंगे। धन, वैभव और संपन्नता के साथ ही सुखों व जीवन में शांति को भी इन मंत्रों के जरिए प्राप्त किया जा सकता है। 

माता लक्ष्मी के बनेंगे कृपापात्र 

पुराणों में ऐसा उल्लेख मिलता है कि यदि भगवान विष्णु किसी व्यक्ति पर प्रसन्न हो गए तो माता लक्ष्मी की कृपा उस पर अपने आप ही होने लगती हैं। कमलासना माता लक्ष्मी विष्णुप्रिया हैं और विष्णु आराधना से आप माता लक्ष्मी के कृपापात्र भी बन जाते हैं। 

मंत्रों के साथ ही व्रतधारी के लिए खास नियम 

गुरूवार का दिन विशेष रूप से भगवान विष्णु के लिए ही रखा जाता है। इस दिन व्रतधारी इन मंत्रों का पीले वस्त्र पहनकर जप करता है तो उसकी सभी इच्छाएं संपूर्ण होती हैं। पीला आहार भी इस दिन उत्तम बताया गया है। इस दिन विशेष रूप से व्रतधारी स्त्री को बाल नही धोना चाहिए, साथ ही पोछा लगाने से भी बचना चाहिए। 

श्रीहरि भगवान विष्णु के पवित्र व दिव्य मंत्र

1. ॐ विष्णवे नम:

2. ॐ नमो भगवते वासुदेवाय

3. ॐ हूं विष्णवे नम:

4. ॐ नमो नारायण। श्री मन नारायण नारायण हरि हरि। 

5. श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे।

6. हे नाथ नारायण वासुदेवाय।।

7.  ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

ये भी हैं खास

- ॐ अ: अनिरुद्धाय नम:

- ॐ नारायणाय नम

- ॐ आं संकर्षणाय नम:

- ॐ अं प्रद्युम्नाय नम:
 

प्रदान करता है शुभ फल
ॐ नमो भगवते वासुदेवाय, गुरूवार के दिन भगवान विष्णु का स्मरण कर मंत्र का जप करना शुभ फलों को प्रदान करता है। आपके बिगड़े हुए कार्य बनते हैं अाैर मनाेकामनाएं पूर्ण हाेती हैं। इन आसान मंत्रों का जप अासानी से अपनी सुविधा के अनुसार कभी भी कर सकते हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर