comScore

Vinod mehra Bday: अपने रिलेशनशिप को लेकर रहे चर्चा में, मेनस्ट्रीम एक्टर के तौर पर नहीं बना पाए जगह

February 13th, 2019 20:26 IST

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। अपने ​अभिनय के दम पर बॉलीवुड में अपनी खास जगह बनाने वाले विनोद मेहरा का जन्म 13 फरवरी 1945 को अमृतसर में हुआ था। वे ​बहुत ही कम फिल्मों में मेनस्ट्रीम एक्टर के तौर पर दिखाए दिए, लेकिन कभी भी अपनी पहचान मेनस्ट्रीम एक्टर के तौर पर नहीं बना पाए। उन्होंने किसी भी फिल्म में छोटे रोल निभाने से परहेज नहीं किया और अपने हर किरदार में उन्होंने अपनी अदाकारी से जान फूंक दी। आज उनका 74 वां जन्मदिन है। इस खास मौके पर उनकी जिंदगी से जुड़े पहलुओं पर नजर डालते हैं।

विनोद मेहरा की पहली फिल्म रागिनी थी। उन्होंने अपने कॅरियर की शुरुआत इसी फिल्म से की थी। इस समय वे मात्र 13 साल के थे और बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट किशोर कुमार की युवाअवस्था का रोल निभाया था। विनोद ने अपने 21 साल के फिल्मी कॅरियर में लगभग 100 फिल्मों में काम किया। बतौर एक्टर विनोद की पहली फिल्म 'एक थी रीता' थी। इस फिल्म में वे मौसमी चटर्जी के साथ थे। उनके कॅरियर को बनाने के लिए मौसमी चटर्जी को बहुत बड़ा हाथ है। 
 
​विनोद उस समय अपने फिल्मी कॅरियर में शिखर पर थे। इसके साथ ही उनकी मां को उनकी शादी की चिंता होने लगी थी। विनोद अपनी मां से बहुत प्यार करते थे। इसलिए उन्होंने उन्होंने अपनी मां की पसंद की लड़की से ही शादी की। लड़की का नाम मीना ब्रोका था। शादी के कुछ समय बाद ही विनोद मेहरा को दिल का दौरा पड़ा। जैसे तैसे विनोद तो बच गए, लेकिन मीना और विनोद के रिश्तों में दूरियां आ गई।

​विनोद का दिल इसके बाद अपनी फिल्म की एक्ट्रेस बिंदिया गोस्वामी पर आ गया और उनसे शादी कर ली, लेकिन यह शादी भी ज्यादा चल न सकी और दोनों का तलाक हो गया। तलाक के बाद उनकी जिंदगी में एक्ट्रेस रेखा आईं। उस समय रेखा और अमिताभ बच्चन के बीच ​गिले शिकवे चल रहे ​थे, जिसके चलते रेखा अकेली हो गई थी। इस बीच उनकी नजदीकियां विनोद मेहरा से बढ़ती गई। रिपोर्ट की माने तो दोनों ने गुपचुप शादी भी कर ली थी, लेकिन विनोद की मां को यह​ रिश्ता मंजूर नहीं ​था। उनकी शादी की चर्चा तब और ज्यादा बढ़ गई, जब विनोद ने तीसरी शादी किरण से की। इसके बाद उन्होंने अपना बाकी का जीवन किरण के साथ बिताया और 1990 में आखिरी हार्टअटैक से उनकी मौत हो गई। 

कमेंट करें
p2NoM