comScore

इस बार 11 घंटे तक किया जा सकेगा मतदान, सुबह 7 से शाम 6 बजे तक कभी भी दें वोट 

इस बार 11 घंटे तक किया जा सकेगा मतदान, सुबह 7 से शाम 6 बजे तक कभी भी दें वोट 

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लोकसभा चुनाव में वोटर्स को इस बार वोट डालने के लिए 11 घंटे का समय मिलेगा। 11 अप्रैल को सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक वोट डाले जा सकेंगे। अब तक 10 घंटे का समय मिलता था, लेकिन इस बार एक घंटे का इसमें इजाफा हुआ है। चुनाव ड्यूटी बंदोबस्त में लगे पुलिस कर्मी जहां 48 घंटे पहले पोलिंग स्टेशन पर मोर्चा संभाल लेंगे, वहीं चुुनाव में लगे कर्मचारी 24 घंटे पहले पोलिंग स्टेशन पर पहुंच जाएंगे। लोकसभा चुनाव में पहली बार वीवीपैट का इस्तेमाल हो रहा है। वोटर ने किसे वोट दिया, यह वीवीपैट की स्क्रिन पर दिखाई देगा और वह पर्ची 7 सेकंड बाद उसी बाक्स में गिर जाएगी। चुनाव पूरीतरह पारदर्शी व शंका के लिए कोई जगह न बचे, इसलिए वोटिंग के पहले मॉक पोल होगा। 11 अप्रैल की सुबह 5 बजे के बाद उम्मीदवारों के प्रतिनिधियों के समक्ष मॉक पोल होगा। मॉक पोल में 50 वोट डाले जाएंगे। जिस प्रतिनिधि ने जिस उम्मीदवार को वोट डाला, वह उसी उम्मीदवार को गया, यह दिखाया जाएगा। प्रतिनिधियों का समाधान होने व किसी की आपत्ती नहीं होने पर प्रिसाइडिंग ऑफिसर की अनुमति से वीवीपैट को सिल करने के बाद सुबह 7 बजे से वोटिंग शुरू होगी। 

यह मॉक पोल हर पोलिंग स्टेशन पर होगा। मॉक पोल में कोई तकनीकी गडबड़ी हुई या किसी प्रतिनिधि ने आपत्ती जताई तो उसका निराकरण किया जाएगा। एक का वोट दूसरे को गया, तो उसी वक्त प्रिसाइडिंग आफिसर वरिष्ठों से अनुमति लेकर संबंधित वीवीपैट बदल डालेगा। पोलिंग स्टेशन पर अतिरिक्त (रिजर्व) वीवीपैट की व्यवस्था रहेगी। माक पोल को एक घंटे का समय लगेगा। सुबह 5 बजे के बाद और सुबह 7 बजे के पूर्व यह माक पोल पूरा करना है। सुबह 7.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक वोटिंग होती थी, लेकिन इस बार सुबह 7 से शाम 6 यानी 11 घंटे वोटिंग की जा सकती है। इसीतरह शाम 6 बजे तक जो लाइन में लगे, उन्हें वोटिंग डालने दिया जाएगा। भले ही इसके लिए अतिरिक्त समय लगता हो। शाम 6 बजे तक लाइन में लगे हर वोटर को वोट डालने दिया जाएगा और वोटिंग समाप्ति के बाद उम्मीदवारों के पोलिंग एजेंट की उपस्थिति में ईवीएम को सील किया जाएगा। 

 

कमेंट करें
Sbkla