comScore

तोतलाडोह डैम का जल स्तर और हुआ कम, सताने लगी चिंता

तोतलाडोह डैम का जल स्तर और हुआ कम, सताने लगी चिंता

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मानसून आने  के एक माह बीत जाने के बावजूद बारिश ने लोगों को निराश कर रखा है ऐसे में उम्मीद थी कि गत सप्ताह भर में अच्छी बारिश होगी। पर ऐसा हो न सका। इस बीच, तोतलाडोह जलाशय के जलस्तर में और तेजी से कमी आई है। 2 टीएमसी पानी और कम हो गया है। 56 टीएमसी से सीधे पानी 54 टीएमसी पर आ गया है।  चर्चा है कि परिस्थितियां अनुकूल नहीं होने से सत्तापक्ष-प्रशासन को एक दिन अंतराल से शहर को पानी देने की योजना जारी रखने पर विचार करना पड़ सकता है। 

ऐसी है स्थिति

उल्लेखनीय है कि बुधवार 17 जुलाई को तोतलाडोह में 56 टीएमसी और नवेगांव खैरी में 33 टीएमसी पानी बचा था। पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने आगाह किया था कि यह पानी 35 दिन ही प्यास बुझा सकता है। अगर एक दिन अंतराल से जलापूर्ति होती है तो चार महीने तक यह पानी चल सकता है। अब तोतलाडोह का पानी 56 टीएमसी से 54 टीएमसी पर आ गया है। नवेगांव खैरी बांध का पानी भी घट गया है। जलप्रदाय समिति सभापति विजय (पिंटू) झलके ने कहा कि सोमवार को बैठक में इस पर चर्चा होगी, जिसके बाद कोई निर्णय लिया जाएगा।

हालत और बिगड़ गई

तोतलाडोह और नवेगांव खैरी जलाशय में नाममात्र पानी होने की वजह से मनपा सत्तापक्ष-प्रशासन ने पिछले सप्ताह शहर को एक दिन अंतराल पर जलापूर्ति करने का निर्णय लिया था। इस अनुसार, बुधवार, शुक्रवार और रविवार को जलापूर्ति बंद रख कर अन्य दिनों में जलापूर्ति की गई थी। विश्वास दिलाया गया था कि अगर सोमवार तक जलाशयों की स्थिति में कुछ सुधार होता है तो 22 जुलाई को बैठक पर इस पर फिर से विचार किया जाएगा, लेकिन गत सप्ताह भर में जैसी उम्मीद थी, वैसी बारिश नहीं हुई। बादल खूब गरजे-बरसे। बिजली भी खूब तड़की, किन्तु बारिश के नाम पर आधा-एक घंटा ही पानी गिरा। जलाशयों का पानी स्तर बढ़ने में इससे कोई मदद नहीं हुई।

कमेंट करें
Zwyxb